• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • In The Name Of Marriage, From Rajasthan To Bihar, The Girls Of The Gang Used To Cheat 1.5 Lakh In A Day With The Fake ID On FB.

लड़कियां कर रहीं शादी के नाम पर ठगी:गिरोह की लड़कियां FB पर फेक ID से एक दिन में ऐंठ लेती थीं 1.5 लाख

कोटाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गिरोह की लड़कियां। - Dainik Bhaskar
गिरोह की लड़कियां।

शादी के नाम पर राजस्थान से बिहार तक ठगी के नेटवर्क का बड़ा खुलासा हुआ है। मैरिज ब्यूरो के नाम चल रहे खेल में बड़ी संख्या में लड़कियां शामिल हैं। गिरोह की 5 लड़कियों और 3 युवकों को कोटा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शादी का झांसा देकर 100 से ज्यादा लोगों से रुपए ऐंठने वाले इस गिरोह का मास्टरमाइंड बिहार का प्रणय है। फेसबुक से सुंदर लड़कियों की फोटो तलाश कर फर्जी प्रोफाइल बनाकर यह खेल चलता था। ठगी के शिकार लोगों में 7 कोटा के हैं।

देशभर में 13 जगहों पर ब्रांच, रजिस्टर में विदेशियों के नंबर भी
गिरोह के रजिस्टर में विदेशी लोगों के नंबर भी मिले है। इनकी कोटा, भागलपुर, पटना समेत देश में 13 जगह ब्रांच है। कोटा में जिन 7 लोगों को शिकार बनाया था, इनमें कोई व्यापारी तो कोई प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। इनमें दो परिवार ऐसे भी थे, जो अपनी लड़कियों के लिए लड़का देख रहे थे। इन लड़कियों ने उन्हें भी नहीं छोड़ा। लड़कियों के घर वालों को लड़कों का फर्जी प्रोफाइल बना उनके साथ तक ठगी की।

ठगों ने 1 महीने में 100 से ज्यादा लोगों को अपना शिकार बनाया है।
ठगों ने 1 महीने में 100 से ज्यादा लोगों को अपना शिकार बनाया है।

ठगी के लिए नाम बदलकर करती थीं बात, 10 फीसदी मिलता था इंसेंटिव
ये लालची लड़कियां गिरोह के तीन युवकों के साथ मिलकर लोगों से ठगी करती थी। नेटवर्क में शामिल होने के बाद काम करने वाली लड़कियां अपनी पहचान छिपाकर रखती थी। अपना नाम बदलकर बात करती थी। गिरोह का सरगना इन्हें फर्जी आईडी से सिम मुहैया कराता था। यह गिरोह एक दिन में 1.50 लाख रुपए तक की ठगी कर लेता। पकड़ी गई लड़कियों में 1 को 10 हजार रुपए व बाकी लड़कियों को 5 हजार रुपए महीने की सैलरी पर रखा हुआ था। लड़कियों को सैलरी के अलावा टारगेट पर 10 प्रतिशत इंसेंटिव भी दिया जाता था।

फर्जी मैरिज ब्यूरो खोलकर जालसाजी को दे रही थीं अंजाम
बिहार निवासी प्रणय व राकेश दोनों कोटा के तलवंडी इलाके में किराए के मकान में रहते हैं। दोनों ने मैरिज ब्यूरो की फ्रेंचाइजी ले रखी थी। शुरुआत में उन्होंने सेवन वंडर इलाके में फर्जी मैरिज ब्यूरो खोला। पिछले 6 महीने से आकाशवाणी कॉलोनी इलाके से जालसाजी को अंजाम दे रहे थे। ये फेसबुक के जरिए लोगों के मोबाइल नंबर पता करते थे। फिर कॉल सेंटर पर काम करने वाली लड़कियां बात करके जाल में फंसा लेती थी।

रजिस्ट्रेशन के नाम पर 21 हजार तक जमा करा लेती थीं लड़कियां
कॉल सेंटर पर काम करने वाली लड़कियां फेसबुक आईडी पर शादी के इच्छुक लड़के और लड़कियों को कॉल करती। फिर वॉट्सएप पर इनका बायोडाटा मंगवाती। इसके बाद फर्जी बायोडाटा तैयार कर फेसबुक से किसी भी सुंदर लड़की का फोटो एडिट कर उन्हें भेजती थी। फर्जी बायोडाटा व फोटो देख लोग झांसे में आ जाते। उनसे रजिस्ट्रेशन के नाम पर 2 से 21 हजार रुपए तक जमा करा लेते थे। बुधवार को तलवंडी इलाके में दूसरी ब्रांच का उद्घाटन होना था। इससे पहले ही पुलिस ने 3 लड़कों और 5 लड़कियों को गिरफ्तार कर लिया।

फर्जी बायोडाटा तैयार कर किसी का भी सुंदर फोटो एडिट करके भेजती।
फर्जी बायोडाटा तैयार कर किसी का भी सुंदर फोटो एडिट करके भेजती।

गिरफ्तार आरोपियों के पास से मोबाइल, लैपटॉप और हार्ड डिस्क बरामद
गिरफ्तार आरोपियों के पास से 8 एंड्रॉयड, 10 की-पैड मोबाइल फोन, लैपटॉप, कम्प्यूटर हार्ड डिस्क व हिसाब-किताब का रजिस्टर बरामद किया गया है। आरोपी अब तक कई लोगों से से धोखाधड़ी कर लाखों रुपए ठग चुके हैं। इस गिरोह में शामिल कुछ और लोगों की भी तलाश की जा रही है।