वारंट तामील कराने के लिए डीजीपी को लिखा:ACB कोर्ट में तारीख पेशी पर नहीं पहुंचे IPS, तत्कालीन बारां एसपी परिस देशमुख गिरफ्तारी वारंट से तलब

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसीबी कोर्ट। - Dainik Bhaskar
एसीबी कोर्ट।

ACB कोर्ट कोटा के न्यायाधीश प्रमोद कुमार मलिक ने कई बार सूचना के बावजूद न्यायालय में गवाही के लिए उपस्थित नहीं होने पर बारां के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख को आगामी 23 अक्टूबर 2021 को गिरफ्तारी वारंट से तलब किया है। वारंट तामील कराने के लिए न्यायालय ने डीजीपी राजस्थान को लिखा है।अभियोजन स्वीकृति जारी करने के मामले में तत्कालीन पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख 11 तारीख,पेशी पर कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए थे।

न्यायालय ने लिखा कि, न्यायालय के जमानती वारंट की सूचना होने के बाद भी गवाह न्यायालय में साक्ष्य देने के लिए अपने लोक कर्तव्य का विधिपूर्ण रूप से निर्भर नहीं कर रहा है। उक्त साक्षी प्रकरण में अभियोजन स्वीकृति जारी करने संबंधित महत्वपूर्ण गवाह है, जिसकी साक्ष्य लेखबद्ध होना अति आवश्यक है। अन्यथा गवाह के साक्ष्य के लिए न्यायालय में उपस्थित नहीं होने व साक्ष्य लेख बद्ध नहीं करवाने पर प्रकरण पर विपरीत प्रभाव पड़ने की संभावना है।

उक्त साक्षी के द्वारा कई तारीख पेशी ऊपर भी तलब किए जाने पर उपस्थित नहीं होना तथा अनावश्यक रूप से जानबूझकर फैक्स मैसेज भेजने से प्रतीत होता है कि उक्त साक्षी साक्ष्य लेख बद्ध करवाने में रुचि नहीं रखता जबकि न्यायालय में साक्ष्य लेख बद्ध करवाना भी राजकार्य ही है। उक्त साक्षी द्वारा कारित ये कृत्य कार्य न्यायालय आदेशिका की पालना में घोर लापरवाही का घोतक है।

खबरें और भी हैं...