नीट यूजी:बाॅटनी व जूलॉजी की अलग विषय की तरह तैयारी करना जरूरी

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार नए पैटर्न में बदलाव, कई टाॅपिक्स के वेटेज पर असमंजस

नीट-यूजी के आयोजन में अब कुछ दिन शेष हैं। इस बार नीट में सफलता प्राप्त करने के लिए अलग स्ट्रेटजी अपनानी होगी, क्याेंकि इस बार परीक्षा पैटर्न में बड़े बदलाव किए गए हैं। स्टूडेट्स को बॉटनी और जूलॉजी अलग-अलग सब्जेक्ट के रूप में तैयार करने होंगे। इस वर्ष बॉटनी और जूलॉजी को अलग-अलग विषय घोषित किया है। पिछले साल तक यह एक ही सब्जेक्ट बायोलॉजी के रूप में घोषित था।

एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि इस वर्ष बॉटनी व जूलॉजी में 50-50 प्रश्न पूछे जाएंगे। एनटीए ने दाेनाें सब्जेक्ट्स का सिलेबस अलग-अलग जारी नहीं किया है। हालांकि संयुक्त रूप से बायोलॉजी सब्जेक्ट का सिलेबस जारी किया है। इस सिलेबस में कुछ टॉपिक्स ऐसे हैं, जिन्हें बॉटनी-जूलॉजी स्पेसिफिक नहीं कहा जा सकता। जैसे जेनेटिक्स एवं इवोल्यूशन, बायोलॉजी एंड ह्मूमन वेलफेयर, बायोटेक्नोलॉजी एंड इट्स एप्लीकेशंस तथा इकोलॉजी एंड एनवायरनमेंट। अब स्टूडेट्स इन टॉपिक्स के वेटेज को लेकर असमंजस में हैं।

फिजिक्स-केमिस्ट्री के लिए जेईई मेन के साल्यूशन रिवाइज करें

12 सितंबर को हाेने वाले नीट-यूजी के प्रश्न पत्र में बेहतर परफॉर्मेंस के लिए जेईई-मेन के फिजिक्स-केमिस्ट्री विषयों के क्वेश्चन-पेपर्स के सॉल्यूशंस को आवश्यक तौर पर रिवाइज करना चाहिए। जेईई-मेन तथा नीट-यूजी दोनों ही प्रवेश-परीक्षाओं का आयोजन एनटीए द्वारा किया जाता है। ऐसे में क्वेश्चंस के रिपीट होने की संभावना बढ़ जाती है। अब रिवीजन पर विशेष फोकस करें। स्टूडेंट्स को नीट-यूजी परीक्षा के समय के अनुसार अपनी बायोलॉजिकल-क्लॉक को भी एडजस्ट कर लेना चाहिए। उनको 6 दिन तक प्रतिदिन दाेपहर 2 से शाम 5 बजे तक 200 में से 180 प्रश्न हल करने की आदत डाल लेनी चाहिए।

जेईई-मेन- आज आ सकते हैं आंसर-की और रेस्पोंस

जेईई मेन के चौथे सेशन की आंसर-की और रिकाॅर्डेड रेस्पाेंस आज जारी हाेने की उम्मीद है। प्राेविजनल आंसर-की जारी होने के बाद उसे चैलेंज करने का स्टूडेंट्स को एक दो दिन का मौका भी दिया जाता है। साथ ही उसके बाद ही फाइनल आंसर-की को परिणाम के साथ घोषित किया जाता है। जेईई मेन के रिजल्ट 10 सितंबर तक जारी किए जाने हैं। हालांकि अभी तक एनटीए की ओर से कोई सूचना जारी नहीं की गई है। स्टूडेंट्स जेईई मेन वेबसाइट देखते रहें क्योकि तय समय के बाद इन्हें तुरंत हटा दिया जाता है।

खबरें और भी हैं...