जेईई मेन 2021:देशभर में 7 लाख अभ्यर्थी आजमा रहे भाग्य, 4 दिन और 8 शिफ्टों में होगी परीक्षा; सीसीटीवी से रखी जा रही नजर

कोटा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा में सेंटर पहुंचे स्टूडेंट। - Dainik Bhaskar
कोटा में सेंटर पहुंचे स्टूडेंट।

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन का तीसरा सेशन मंगलवार से शुरू हो गया है। देश-विदेश के 334 परीक्षा शहरों में आयोजित होने वाली यह परीक्षा आठ शिफ्टों में प्रत्येक दिन सुबह 9 से 12 एवं दोपहर 3 से 6 बजे तक चलेगा । तीसरे सेशन की परीक्षा में 7 लाख से ज्यादा विद्यार्थी परीक्षा दे रहे है। परीक्षा के लिए राजस्थान में 17 सेंटर्स बनाए गए हैं।

इसमें अजमेर, अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, दौसा, जयपुर, झुंझुनूं, जोधपुर, करौली, कोटा, नागौर, हनुमानगढ़, सवाईमाधोपुर, सीकर, श्रीगंगानगर और उदयपुर शामिल है।तीसरे सेशन की परीक्षा 20, 22, 25 एवं 27 जुलाई को होगी। जिन विद्यार्थियों का पूर्व के दो सेशन में एनटीए स्कोर कम रहा है, उनके लिए तीन माह बाद परीक्षा होने से एनटीए स्कोर को बढ़ाने का मौका मिला है।

अभ्यर्थियों की डबल स्क्रीनिंग की गई

कोटा में पहले दिन यह परीक्षा तीन केन्द्रों पर शुरू हुई, इसमें शिवज्योति इंटरनेशनल स्कूल, परीक्षा डेस्क और वायबल सोल्युशन्स शामिल हैं। कोटा में प्रत्येक पारी में 940 परीक्षार्थी भाग लिया।परीक्षा केंद्रों पर सुबह 7 बजे से ही अभ्यर्थियों का आना शुरू हो गए थे,साढ़े आठ बजे तक केंद्रों पर प्रवेश चलता रहा। केंद्रों पर प्रवेश पत्र के आधार पर प्रवेश दिया गया। अभ्यर्थियों की डबल स्क्रीनिंग की गई। केंद्र के अंदर सोशल डिस्टेंसिग के तहत बिठाया गया। सीसीटीवी कैमरों से नजर रही।

एनटीए ने जेईई मेन के प्रवेश पत्रों में प्रत्येक विद्यार्थी को अपने दिए गए रिपोर्टिंग समय पर रिपोर्ट करने का समय दिया गया था, जिससे ज्यादा भीड़ नही रही। केन्द्रों के अंदर सोशल डिस्टेंसिग के लिए गोले बनाए गए थे। अभ्यर्थी उसी में खड़े हुए। परीक्षा प्रारंभ होने से आधा घंटा पूर्व प्रवेश द्वार बंद कर दिए गए। विद्यार्थियों को दिए गए प्रवेश पत्र में सेल्फ डिक्लेरेशन प्रारूप में विद्यार्थी को बाएं हाथ का अंगूठा का निशान और स्वयं की फोटो लगाकर ले जाने का प्रावधान था। विद्यार्थी ने इस प्रारूप में स्वयं के हस्ताक्षर, परीक्षा केन्द्र में परीक्षक के सामने ही किए। विद्यार्थी अपने साथ आधार कार्ड या कोई आइडी प्रूफ सेल्फ डिक्लेरेशन भरा हुआ प्रवेश पत्र, पारदर्शी पेन, स्वयं का फोटो, सैनेटाइजर व पानी की पारदर्शी बोतल साथ लेकर गए। विद्यार्थियों को परीक्षा केन्द्र पर रफ कार्य हेतु 6 रफ शीट उपलब्ध करवाई गई, जो नाम व रोल नम्बर लिखकर परीक्षा समाप्त होने पर लौटा दी गई।

खबरें और भी हैं...