कोरोना का तांडव:683 नए मरीज आए, एक की माैत, 29 रेलवे कर्मचारी व 24 मेडिकल स्टूडेंट भी पाॅजिटिव

काेटा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
काेरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के बावजूद बाजारों में भीड़ में कोई कमी नहीं आ रही है। भीड़ में मास्क लगाने वालों की संख्या भी बेहद कम है। - Dainik Bhaskar
काेरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के बावजूद बाजारों में भीड़ में कोई कमी नहीं आ रही है। भीड़ में मास्क लगाने वालों की संख्या भी बेहद कम है।

काेटा में काेराेना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। हालात दिन ब दिन विकट हाेते जा रहे हैं, इसके बावजूद पूरा सिस्टम मूक दर्शक बनकर देख रहा है। साेमवार काे भी 683 नए मरीज अाए अाैर एक वृद्ध की माैत हाे गई। दादाबाड़ी निवासी 84 साल के वृद्ध 10 अप्रैल को एडमिट हुए, दो दिन इलाज के बावजूद स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ और सोमवार दोपहर में मौत हो गई। उधर, मेडिकल कॉलेज में एक बार फिर कोरोना विस्फोट हुआ। कॉलेज के वर्ष 2019 बैच के 24 स्टूडेंट एक साथ पॉजिटिव मिले हैं, इसके चलते इस बैच की क्लास भी अगले कुछ दिन के लिए सस्पेंड कर दी गई।

इससे पहले 2020 बैच के 21 स्टूडेंट एक साथ पॉजिटिव पाए गए थे। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के बाद अब पैरेंट्स यह मांग कर रहे हैं कि जब दूसरे सारे शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए हैं तो फिर मेडिकल कॉलेज में क्लास क्यों चलाई जा रही है? प्रिंसिपल डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि फिलहाल क्लास सस्पेंड कर दी गई है, इनकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद फिर से क्लास शुरू कराई जाएंगी।

10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू की निषेधाज्ञा लागू : कलेक्टर उज्ज्वल राठाैड़ ने साेमवार काे 10 थाना क्षेत्राें के कुछ इलाकाें में कर्फ्यू की निषेधाज्ञा लागू की है। इन इलाकों से लगातार बड़ी संख्या में पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। आदेश के तहत थाना बोरखेड़ा, विज्ञान नगर, महावीर नगर, कुन्हाड़ी, गुमानपुरा, भीमगंजमंडी, आरकेपुरम, उद्योग नगर, दादाबाड़ी और कैथूनीपोल के कई इलाकों में 14 दिन तक पॉजिटिव मिले व्यक्तियों के मकान के 100 मीटर की परिधि क्षेत्र में जीरो मोबिलिटी कर्फ्यू की निषेधाज्ञा जारी की है।

धार्मिक आयोजनों के मद्देनजर जिलेभर में धारा 144 लागू : जिले में धार्मिक उत्सव, मेले, त्योहार, जुलूस, रैली या सार्वजनिक स्थानों पर धार्मिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध रहेगा। प्रशासन के मुताबिक, केवल पूजा, अर्चना, अरदास, इबादत, नमाज एवं प्रार्थना स्थल पर उपलब्ध क्षमता की 50 प्रतिशत या अधिकतम 50 व्यक्ति ही एक साथ इकट्‌ठा हो सकेंगे। वहीं मैनपावर की कमी को देखते हुए अब फाइनल एमबीबीएस व एमएससी-बीएससी के फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स की सेवाएं ली जाएंगी। 15 अप्रैल को इनको ट्रेनिंग दी जाएगी।

कोरोना से रेलवे के सीएमआई की पत्नी की जयपुर के अस्पताल में हुई मौत

कोरोना से रेलवे के एक सीएमआई की पत्नी की मौत हो गई। वहीं रेलवे के 29 नए कर्मचारी पॉजिटिव मिले हैं। इनमें रेलवे वर्कशॉप के 4 कर्मचारी शामिल हैं। कोटा रेल मंडल के डीआरएम ऑफिस में तैनात सीएमआई की 41 वर्षीय पत्नी पिछले कुछ दिनों से खांसी, जुकाम व बुखार से पीड़ित थी। उन्हें तलवंडी स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत में सुधार न होने पर जयपुर के फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया था। वहां उनकी मौत हो गई। सीएमआई बोरखेड़ा क्षेत्र के निवासी बताए गए हैं। रेलवे वर्कशॉप के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को 4 और कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। दो ऐसे कर्मचारियों का भी पता लगा है जो पॉजिटिव होने के बाद भी रेल प्रशासन को जानकारी नहीं दे रहे थे। जनवरी से अब तक वर्कशॉप के 23 कर्मचारी पॉजिटिव हो चुके हैं।

रूटीन सर्जरी बंद, अब सिर्फ इमरजेंसी ऑपरेशन होंगे

मेडिकल कॉलेज के हॉस्पिटलों में अब सिर्फ इमरजेंसी ऑपरेशन ही होंगे। यूनिट हेड की सहमति पर ही रूटीन सर्जरी की जा सकेगी। प्रिंसिपल डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि कोविड के बढ़ते मरीजों को देखते हुए हमें कोविड हाॅस्पिटल में यूनिटें बढ़ानी पड़ रही है। पहले दो यूनिट थी, अब बढ़ाकर तीन यूनिट कर दी गई है। मैनपावर की कमी को देखते हुए ये निर्णय किया गया है।चार संदिग्ध मरीजों की मौत : कोविड हॉस्पिटल में सोमवार को चार ऐसे मरीजों की भी मौत हुई, जो सस्पेक्टेड और निगेटिव श्रेणी में थे। इन चारों का कोविड का ही इलाज चल रहा था, लेकिन आरटीपीसीआर टेस्ट में पॉजिटिव नहीं मिले थे।

कोटा में 2 दिन के लिए ही रेमडेसिविर इजेक्शन बचे : काेराेना में सबसे ज्यादा कारगर माना जा रहा एंटी वायरल इंजेक्शन रेमडेसिविर काेटा में प्राइवेट सेक्टर में खत्म हाे चुका है। सहायक अाैषधि नियंत्रक प्रहलाद मीणा ने बताया कि साेमवार सुबह 30 इंजेक्शन अाए थे, सभी बंट गए। अभी किसी भी स्टाॅकिस्ट के पास इंजेक्शन नहीं है। उधर, मेडिकल काॅलेज के सूत्राें ने बताया कि साेमवार शाम काे 114 इंजेक्शन बचे थे। जबकि राेजाना इतने इंजेक्शन लग रहे हैं। स्क्रीनिंग करके भी लगाए जाएं ताे ये इंजेक्शन दाे दिन में खत्म हाे जाएंगे।

खबरें और भी हैं...