पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नगर निगम चुनाव:कोटा उत्तर की 70 सीटों के लिए 62.59 % मतदान, शांतिपूर्ण रहा मतदान; 225 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा। लाडपुरा के वार्ड 36 में मतदान करने के लिए मतदाताओ की लगीं कतारें।
  • कोविड के दिशा-निर्देशों की कड़ाई से पालना के बीच हुआ मतदान

कोटा उत्तर नगर निगमों में गुरुवार को प्रथम चरण के लिए 62.59 प्रतिशत मतदान हुआ। दोपहर तीन बजे तक 51 प्रतिशत मतदान हुआ था जिसने शाम तक तेजी नहीं पकड़ी। कोटा उत्तर में 70 सीटों के लिए 225 प्रत्याशी मैदान में हैं। कई सीटों पर दो से अधिक आठ प्रत्याशी तक लड़े हैं। वहीं, 80 सीटों के लिए दूसरे चरण में चुनाव होगा। वोटिंग दौरान कोविड के दिशा-निर्देशों की कड़ाई से पालना की गई।

दिन में अधिक संख्या में महिलाएं वोट डालने पहुंची।
दिन में अधिक संख्या में महिलाएं वोट डालने पहुंची।

कलेक्टर ने मतदान दिवस पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया
जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर उज्ज्वल राठौड़ ने प्रथम चरण में कोटा उत्तर में गुरुवार एवं द्वितीय चरण में नगर निगम कोटा दक्षिण में 1 नवम्बर रविवार को मतदान दिवस को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। जहां पुनर्मतदान होगा उस मतदान क्षेत्र या क्षेत्रों में भी पुनर्मतदान दिवस पर सार्वजनिक अवकाश रहेगा।

एक बूथ पर मतदान करने पहुंची महिलाएं।
एक बूथ पर मतदान करने पहुंची महिलाएं।

केंद्र में बिना मास्क के प्रवेश नहीं मिला

सभी मतदाता अपने घर से मास्क लगाकर मतदान के लिए पहुंचे। केंद्र में बिना मास्क के प्रवेश नहीं दिया गया। मतदान केंद्र में जाने से पहले हाथों को सेनेटाइज किया गया और। मतदान के दौरान सीनियर सिटीजन और दिव्यांग जनों को प्राथमिकता दी गई हालांकि कुछ जगहों पर उन्हें अव्यवस्था के कारण परेशानी भी झेलनी पड़ी।

मतदान करती महिलाएं।
मतदान करती महिलाएं।

रोचक तथ्य
पार्षदों को मानदेय व भत्ते के रूप में जो राशि मिलती है वो न्यूनतम मजदूरी से भी कम 3750 रुपए प्रतिमाह यानी 125 रुपए प्रतिदिन मिलता है। वहीं महापौर को 20 हजार रुपए प्रतिमाह मिलता है। उपमहापौर को तो वो भी नहीं मिलता। उपमहापौर को मानदेय के बदले वाहन सुविधा व स्टाफ मिलता है।

इसलिए बनना चाहते हैं पार्षद:

  • इतना कम मानदेय हाेने के बाद भी पार्षद पद के लिए इतना आकर्षण हाेने के पीछे जाे कारण है वाे है, इस पद का मान सम्मान। गरिमा और विकास की मजबूत कड़ी।
  • जिस प्रकार से महापाैर काे शहर का प्रथम नागरिक का दर्जा हाेता है उसी तरफ पार्षद वार्ड का प्रथम नागरिक हाेता है।
  • राजनीतिक कॅरियर में जनप्रतिनिधि बनने की यह पहली सीढ़ी हाेती है।
  • पार्षद के पास सफाई, राेड लाइट, गार्डन, सड़क की जिम्मेदारी हाेती है।
  • सामाजिक सुरक्षा पेंशन वार्ड पार्षद की अनुशंसा पर मिलती है।
  • नगर निगम के सदस्य के रूप में पूरे शहर के विकास और सामाजिक कार्याे की जिम्मेदारी होती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें