पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Kota,rajasthan, Aisho Was Cutting The Life Of Rest In Ferrari For 4 Years After Embezzling Two And A Half Crores, The Reward Of 5 Thousand Was Declared On The Cashier Among The Top 10 Criminals Of The District.

ढाई करोड़ गबन का आरोपी गिरफ्तार:4 साल से फरारी में ऐशो आराम की जिंदगी काट रहा था 5 हजार का इनामी कैशियर, जिले के टॉप-10 वांटेड की लिस्ट में था नाम

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरिराज वर्मा ने कैशियर के पद पर तैनात था। - Dainik Bhaskar
गिरिराज वर्मा ने कैशियर के पद पर तैनात था।

कोटा जिले की ग्रामीण पुलिस ने ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा विभाग खैराबाद के तत्कालीन कैशियर गिरिराज वर्मा को गिरफ्तार किया है। कैशियर पर ढाई करोड़ रुपए के गबन का आरोप है। पिछले 4 साल से आरोपी फरारी काट रहा था। उसने गबन की राशि से कोटा में आलीशान मकान, कार खरीदी। वह ऐशो आराम से जिंदगी जी रहा था। गुरुवार को वो उज्जैन जाने के लिए बस में सवार होने वाला था। उससे पहले ही पुलिस ने उसे दबोच लिया। वर्मा पर पुलिस ने 5 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। वह जिले के टॉप-10 अपराधियों की लिस्ट में शुमार था।

गबन का मास्टरमाइंड था कैशियर
ग्रामीण एसपी शरद चौधरी में बताया कि 2 जनवरी 2017 को प्रह्लाद राय, ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी खैराबाद ने रामगंजमंडी थाने में शिकायत दी थी। इसमें बताया था कि स्थानीय कार्यालय में तैनात कैशियर गिरिराज वर्मा (42) ने अपने नजदीकी व्यक्तियों को लाभ पहुंचाया। साजिश करके कार्यालय के बैंक खाते से चेक से 76 लाख 26 हजार 267 रुपए की राशि की हेराफेरी की। जांच में 2 करोड़ 38 लाख रुपए के गबन की जानकारी सामने आई। मामले में मास्टरमाइंड की पत्नी सहित 10 आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी।

4 साल से फरारी काट रहा था
गिरफ्तारी से बचने के लिए गिरिराज मुंबई, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश के उज्जैन, इंदौर में फरारी काट रहा था। अभी वह उज्जैन में रह रहा था। दो-तीन दिन पहले ही वो कोटा आया था। बस से वापस उज्जैन जा रहा था, तभी टीम ने उसे पकड़ लिया।

खबरें और भी हैं...