• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Kota,rajasthan,80% Lungs Were Spoiled In 48 Hours, Oxygen Saturation Decreased From 94 To 68 In 24 Hours, Remained In ICU For 9 Days, Now Fully Healthy

रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं, पर इलाज कोरोना का:कोविड का कोई लक्षण नहीं, फिर भी 48 घंटे में 80% फेफड़े में इंफेक्शन; 24 घंटे में ऑक्सीजन सेचुरेशन 94 से 68 पर आया, 9 दिन आईसीयू में रही, अब बिल्कुल फिट है

कोटा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मरीज के 48 घण्टे में  80 प्रतिशत फ� - Dainik Bhaskar
मरीज के 48 घण्टे में  80 प्रतिशत फ�

कोरोना की दूसरी लहर में कोटा में एक ऐसा मामला सामने आया, जिसमें महिला में कोई लक्षण नही था। फिर भी 24 घंटे में ऑक्सीजन सेचुरेशन 68 पहुंच गया। 48 घंटे में मरीज के 80 प्रतिशत फेफड़ों में संक्रमण फैल चुका था। सीटी स्कोर 18/25 था। ऐसे में जान बचाना आसान नहीं होता। महिला ने समय पर अपना इलाज करवाया। डॉक्टर से परामर्श लेती रही। अब वह बिल्कुल स्वस्थ है।

13 अप्रैल को एक्सरे कराया गया तो सब नॉर्मल था।
13 अप्रैल को एक्सरे कराया गया तो सब नॉर्मल था।

श्वास रोग विशेषज्ञ डॉ. केवल कृष्ण डंग ने बताया कि 32 साल की महिला को घबराहट की शिकायत थी। 13 अप्रैल को उसका एक्सरे करवाया। एक्सरे नॉर्मल था। वो दवाइयां लेकर घर चली गई। 15 अप्रैल को सांस लेने में दिक्कत पर वापस आई। एक्सरे जांच में निशान मिले। जिस पर सीटी स्कैन करवाया। सीटी में 80 प्रतिशत फेफड़े संक्रमित मिले। सीटी स्कोर 18/25 आया। उसे कोविड अस्पताल जाने की सलाह दी।

15 अप्रैल को सांस लेने में दिक्कत पर वापस आई। एक्सरे जांच में निशान मिले।
15 अप्रैल को सांस लेने में दिक्कत पर वापस आई। एक्सरे जांच में निशान मिले।

महिला अपने रिश्तेदार के साथ कोविड अस्पताल गई। वहां पर्ची कटाने सहित अन्य कार्यो में एक से डेढ़ घण्टा लगा। इस दौरान महिला का ऑक्सीजन सेचुरेशन 94 से घटकर 89 पर आ गया। महिला वापस लौट आई। महिला को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। 16 अप्रैल को राउंड के दौरान महिला का सेचुरेशन 89 से डाउन होकर 68 पहुंच गया। उसे हाई फ्लो ऑक्सीजन पर लिया गया। 24 घण्टे में सेचुरेशन लेवल नहीं बढ़ा तो 17 अप्रैल को जयपुर से टोसीलोजूमाब इंजेक्शन की व्यवस्था कर मरीज को लगाया गया। इंजेक्शन व स्टोरेड देने के बाद महिला 3-4 दिन में रिकवर होने लगी। महिला 9 दिन आईसीयू में भर्ती रही। अब वह स्वस्थ है। बिना ऑक्सीजन के महिला का सेचुरेशन 98 हो गया। खास बात यह रही कि महिला की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव कभी नहीं आई। उसका इलाज जरूर कोविड मरीजों की तरह चला।

9 दिन आईसीयू में भर्ती रखा। अब महिला पूरी तरह स्वस्थ है। ऑक्सीजन सेचुरेशन भी 98 हो गया।
9 दिन आईसीयू में भर्ती रखा। अब महिला पूरी तरह स्वस्थ है। ऑक्सीजन सेचुरेशन भी 98 हो गया।

हिम्मत नहीं टूटने दी

महिला 15 अप्रैल से आईसीयू में भर्ती थी। उसके सांस-ससुर कोरोना संक्रमित हो चुके थे। 16 अप्रैल को कोरोना संक्रमित ससुर ने दम तोड़ दिया। ऐसे में परिवार पर दुःखों का पहाड़ टूट गया था। उसके बाद भी परिवार के लोगों ने हिम्मत नहीं हारी। अब वो बिल्कुल स्वस्थ है। रोजमर्रा के अपने काम कर रही है। हालांकि अभी भी निमोनिया के निशान हैं।

खबरें और भी हैं...