पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Kota,rajasthan,ACB Arrested Bribes In Kota, Sarpanch And Broker Arrested In Two Separate Actions, ASI Of Etawah Police Station Absconded

ACB की डबल कार्रवाई:कोटा में ढाई लाख रु. की रिश्वत लेते सरपंच गिरफ्तार; 40 हजार लेते इटावा थाने का ASI ट्रैप हुआ

कोटा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गैंता सरपंच भवानीशंकर को 1 हजार रुपये व ढाई लाख के दो चेक लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। - Dainik Bhaskar
गैंता सरपंच भवानीशंकर को 1 हजार रुपये व ढाई लाख के दो चेक लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

कोटा में एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने मंगलवार को 2 अलग-अलग कार्रवाई को अंजाम दिया। पहली, ACB ने अग्रिम जमानत के लिए 15 दिन का समय देने की एवज में 40 हजार घूस लेते इटावा थाने के ASI रणवीर सिंह और दलाल राम सिंह ट्रैप किया। इसमें ASI फरार हो गया, जबकि दलाल को गिरफ्तार कर लिया। वहीं, दूसरी कार्रवाई में गैंता गांव के सरपंच भवानी शंकर नागर को ट्रैप किया। सरपंच ने पीड़ित से जमीन के कागजों पर नाम ट्रांसफर कराने के एवज में घूस मांगी थी। ACB सरपंच को ढाई लाख रुपए का चैक और एक हजार रुपए नकद लेते हुए गिरफ्तार किया है।

ट्रेप की भनक लगते ही इटावा थाने से ASI रणवीर सिंह फरार हो गया।
ट्रेप की भनक लगते ही इटावा थाने से ASI रणवीर सिंह फरार हो गया।

कोटा ACB के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ठाकुर चन्द्रशील ने बताया कि पहली कार्रवाई इटावा में की गई। परिवादी विपिन योगी निवासी बोरखेड़ा ने शिकायत दी थी। जिसमें बताया था कि उसके व चाचा के बीच विवाद चल रहा था। जिसकी शिकायत इटावा थाने में दर्ज हुई थी। मामले को रफा दफा करने की एवज में थाने के सहायक उप निरीक्षक (ASI) रणवीर सिंह ने 3 लाख की रिश्वत मांगी थी। रिश्वत नहीं देने पर उसे गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था। जमानत होने पर परिवादी विपिन योगी थाने में सहायक उप निरीक्षक रणवीर सिंह से मिला। थाने में SHO व ASI ने अग्रिम जमानत के लिए 15 दिन का समय देने के एवज में 40 हजार की रिश्वत की मांगी।

इटावा थाने के ASI रणवीर सिंह के लिए 40 हजार घूस लेते दलाल रामसिंह ट्रैप को ट्रेप किया
इटावा थाने के ASI रणवीर सिंह के लिए 40 हजार घूस लेते दलाल रामसिंह ट्रैप को ट्रेप किया

रिश्वत की रकम गांव के ही निवासी रामसिंह को देने को कहा। शिकायत पर एसीबी ने सत्यापन कर ट्रेप की कार्रवाई को अंजाम दिया। दलाल रामसिंह को 40 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। ट्रेप की भनक लगते ही सहायक उप निरीक्षक (ASI) रणवीर सिंह थाने से फरार हो गया। तलाशी में सहायक उप निरीक्षक के गैंगस्टर से मिलीभगत के सबूत मिले है। जिसकी जांच भी एसीबी कर रही है।

वहीं दूसरी ट्रेप कार्रवाई को गैता में अंजाम दिया गया। यहां भी परिवादी विपिन योगी निवासी बोरखेड़ा ने एसीबी में शिकायत दी थी। जिसमें बताया था कि गैता गांव में उसकी दादी के नाम जमीन है। जिसमें से 7 बीघा जमीन को जुलाई 2020 में बेचान किया था। दादी की मौत होने की वजह से जमीन का इंतकाल खुलवाना था। इस कारण गांव के सरपंच भवानीशंकर से मिला। भवानी शंकर ने दादी का मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने व जमीन का इंतकाल खोलने की एवज में 2 लाख 50 हजार की रिश्वत मांगी। सत्यापन के बाद एसीबी ने ट्रेप की कार्रवाई को अंजाम दिया। भवानीशंकर को 1 हजार रुपये व ढाई लाख के दो चेक लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया।