पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रक्त का टोटा:कोटा में डोनेशन कैंप नहीं लगने से ब्लड बैंक में रक्त की कमी, केवल 4 दिन का बचा है स्टॉक

कोटा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ब्लड बैंक में रक्त की कमी आ गई है। ब्लड बैंक में फिलहाल 350 यूनिट रक्त ही स्टोरेज है। जबकि ब्लड बैंक से वर्तमान में प्रतिदिन 70-80 यूनिट ब्लड की खपत हो रही है - Dainik Bhaskar
ब्लड बैंक में रक्त की कमी आ गई है। ब्लड बैंक में फिलहाल 350 यूनिट रक्त ही स्टोरेज है। जबकि ब्लड बैंक से वर्तमान में प्रतिदिन 70-80 यूनिट ब्लड की खपत हो रही है

कोरोना संक्रमण के बाद से ही कोटा में ब्लड डोनेशन कैंप लगना बंद हो गए हैं। जिस कारण संभाग के सबसे बड़े ब्लड बैंक में रक्त की कमी आ गई है। ब्लड बैंक में फिलहाल 350 यूनिट रक्त ही स्टोरेज हैं जबकि ब्लड बैंक से वर्तमान में प्रतिदिन 70-80 यूनिट ब्लड की खपत हो रही है। यानी ब्लड बैंक में केवल 4 दिन का रक्त संग्रहण बचा है। कोटा में MBS अस्पताल में संभागीय ब्लड बैंक संचालित है। इस इस जोन में झालावाड, बूंदी ,बारां करौली व सवाई माधोपुर जिले आते हैं। कोटा ब्लड बैंक की 5 हजार यूनिट रक्त संग्रहित की क्षमता है।

ब्लड बैंक प्रभारी डॉक्टर HG मीणा ने बताया कि पूरे साल में 150 से ज्यादा कैंप लगते थे। यानि महीने में औसत करीब 12 से 15 कैंप लगते थे। वर्तमान में महीने में 3 से 5 कैंप ही लग पा रहे हैं। कोरोना संक्रमण के बाद से ही ब्लड डोनेशन कैंप में कमी आ गई है। इस कारण खासकर B ग्रुप (पॉजिटिव/निगेटिव) की ज्यादा कमी है। संभवतया कोरोना के खौफ से लोगों के मन में डर बैठ गया है। इस कारण ब्लड डोनेशन में कमी आई है।

ब्लड बैंक में 750 थैलीसीमिया मरीज रजिस्टर हैं। वहीं हीमोफीलिया के करीब 50 मरीज हैं। इन्हें बार-बार रक्त की जरूरत पड़ती है। वहीं गर्भवती महिलाएं, कैंसर ,सड़क दुर्घटना, डायलिसिस मरीज को ब्लड की जरूरत पड़ती है। ऐसे में इन रोगियों को ब्लड उपलब्ध कराना चुनौती बना हुआ है।

ब्लड डोनेशन के मामले में कोटा प्रदेश में नंबर वन रहा है। यहां की सामाजिक संस्थाए ब्लड डोनेशन को लेकर सालभर अभियान चलाती है। लोगों को रक्तदान करने के लिए मोटिवेट करती है। रक्तदान के क्षेत्र में काम करने वाली संस्थाओं ने कोरोना काल में भी ब्लड डोनेशन कैंप लगवाकर रक्त की कमी की पूर्ति की थी। अभी भी सामाजिक संस्थाए वॉलंटरी डोनर को बुलवाकर रक्त उपलब्ध करवा रही है।

ब्लड बैंक प्रभारी डॉक्टर HG मीणा ने बताया कि वर्तमान में ब्लड बैंक में रक्त की कमी है। संस्थाओं की मदद से रक्त की कमी को पूरा करने के प्रयास किये जा रहे हैं। अभी छोटे-छोटे कैंपों में 30 से 50 यूनिट ब्लड ही इकट्‌ठा हो पा रहा है। कुछ वॉलंटरी डोनर भी रक्तदान कर रहे हैं। गर्मी के दिनों में रक्त की खपत बढ़ेगी। सामाजिक संस्थाओं से बात करके ब्लड डोनेशन कैंप लगवाएंगे। ताकि रक्त की कमी ना रहे।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

और पढ़ें