• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Liquor Trader Took Out Recovery Of 4.5 Lakhs, Troubled Youth Committed Suicide, Suicide Note And Audio Recording Revealed The Secret Kota Rajasthan

सुसाइड से पहले का AUDIO, बोला- लाश से लेना पैसे:4.5 लाख की रिकवरी से परेशान था, ढाई पेज का नोट लिखकर ट्रेन के आगे कूदा

कोटा6 महीने पहले

शराब की दुकान पर काम करने वाले सेल्समैन ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। वह 4.5 लाख रुपए की रिकवरी से परेशान था। आरोप है कि शराब ठेके का मालिक उससे पैसे की वसूली के लिए दबाव बना रहा था। सेल्समैन पर गबन का आरोप लगाया था। तंग आकर उसने मैनेजर को कॉल मिलाया और कहा- तू मेरी लाश से पैसे वसूल लेना। मरने से पहले उसने यह ऑडियो रिकॉर्ड किया था। इसके बाद वह ट्रेन के आगे कूद गया। ढाई पेज का सुसाइड नोट भी छोड़ गया है। कोटा के उद्योग नगर इलाके का यह मामला है।

ट्रैक पर मिली लाश
लोकेश (26) हरिओम नगर का निवासी था। वह लम्बे समय से शराब कारोबारी के यहां सेल्समैन का काम करता था। तीन साल पहले उसकी शादी हुई थी। उसके डेढ़ साल का बच्चा है। मंगलवार सुबह 4 बजे उसकी लाश रेलवे ट्रैक पर मिली। उसके पास ढाई पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। इसी से पैसे के लिए दबाव बनाने का खुलासा हुआ है।

सुसाइड नोट का पहला पेज।
सुसाइड नोट का पहला पेज।

गबन के आरोप में पुलिस कर चुकी है मारपीट
लोकेश के पास मिले सुसाइड नोट में तनाव व दबाव की सारी बात लिखी है। नोट में लिखा है कि शराब ठेकेदार ने उस पर 125 पेटी शराब का गबन का आरोप लगाया। इसलिए साढ़े 4 लाख की रिकवरी निकाली। शराब कारोबारी ने पैसा देने का दबाव बनाया और महावीर नगर थाने में शिकायत दी। पुलिस ने लोकेश को थाने में बुलवाया और पट्टे से मारपीट की। उसने थाने में शराब व्यापारी के हाथ पैर जोड़े। लोकेश ने लिखा कि गलती नहीं होने के बाद भी उसने जेल जाने के डर व पुलिस की मार से गलती मान ली।

सुसाइड नोट का दूसरा पेज।
सुसाइड नोट का दूसरा पेज।

12 मिनट का ऑडियो
लोकेश सोमवार रात को पैदल ही अकेला घर से निकला था। उसके मोबाइल पर शराब मैनेजर से बात हुई। करीब 12 मिनट की ऑडियो में लोकेश, मैनेजर से बात करता हुआ गलती नहीं होने की सफाई दे रहा है। मैनेजर बदतमीजी से बात करते हुए शराब व्यापारी को अपना बड़ा भाई बता रहा है। लोकेश इज्जत खराब होने के डर से बार-बार सुसाइड करने की बोल रहा है। लोकेश ने रात 8 बजे बाद पुलिस की निगरानी में शराब बेचने की बात भी लिखी है।

सुसाइड नोट का तीसरा पेज।
सुसाइड नोट का तीसरा पेज।

नशे में मैनेजर ने की गाली-गलौज
लोकेश के जीजा नरेंद्र ने बताया कि ठेकेदार पैसे देने का दबाव बना रहा था, जबकि उसकी कोई गलती नहीं थी। तनाव में आकर लोकेश ने सुसाइड किया है। रात को मैनेजर पारेता की लोकेश से मोबाइल पर बातचीत हुई थी। शराब के नशे में मैनेजर ने गाली-गलौज की है। उद्योग नगर थाने के ASI बाबूलाल ने बताया कि परिजनों ने मोबाइल रिकॉर्डिंग की बात बताई है। शिकायत के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।