पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Mobile Communication Found In The Checking Of Child Communication House, The Criminals Beat Up The Staff Including The Superintendent

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रूटीन चेकिंग के दौरान हुई घटना:बाल संप्रेषण गृह की चेकिंग में मोबाइल मिला, अपचारियों ने अधीक्षक समेत स्टाफ को पीटा

कोटा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाल गृह में हंगामे के बाद जांच पहुंची पुलिस। - Dainik Bhaskar
बाल गृह में हंगामे के बाद जांच पहुंची पुलिस।

कोटा के बाल अपचारियों द्वारा बाल संप्रेषण गृह स्टाफ से मारपीट का मामला सामने आया है। फलौदी जेल ब्रेक के बाद कोटा में रूटीन चेकिंग की जा रही थी, इस दौरान अपचारियों ने विरोध कर दिया। वे चेकिंग नहीं करवाना चाहते थे, लेकिन अधीक्षक, गार्ड, केयर टेकर व पुलिस गार्ड ने चेकिंग जारी रखी। इसी दौरान स्टाफ को मोबाइल भी मिला, जिसके बाद बाल अपचारियों ने स्टाफ पर हमला बोल दिया।

हमले में अधीक्षक अर्पित जैन समेत अन्य स्टाफ चोटिल हो गए। हमले के तुरंत बाद अधीक्षक व स्टाफ ने स्थिति संभालते हुए सभी को कमरों में बंद करके बाहर से लॉक कर दिया। पुलिस को सूचना दी गई और स्थिति को नियंत्रित किया गया। बाल संप्रेषण गृह में वर्तमान में कुल 38 बाल अपचारी रह रहे हैं। अक्सर इन अपचारियों में दो गुट बन जाते हैं और वो आपस में लड़ाई करते हैं।

बुधवार को इन बाल अपचारियों ने सारी हदें पार करते हुए बाल संप्रेषण गृह स्टाफ के साथ ही मारपीट कर दी।

कमरे बंद करके ताले लगाए तो अंदर की तोड़-फोड़, ताले भी तोड़ डाले

जब स्टाफ ने बाल अपचारियों को कमरों में बंद कर दिया तो उन्होंने अंदर हंगामा करना शुरू कर दिया। जमकर तोड़-फोड़ की और पलंग, खिड़कियां जालियां समेत कई चीजों को तोड़ दिया। कमरों के ताले तोड़कर बाहर भी आ गए। बाल अपचारियों को बाहर का मुख्य दरवाजा बंद करके रोका गया।

इधर, बाल संप्रेषण गृह की तरफ से इसकी जानकारी आरकेपुरम पुलिस को दी गई। उक्त मामले में 5 बाल अपचारियों के खिलाफ केस दर्ज करवाया गया है।

कहने को बाल अपचारी, मुकदमे रेप और मर्डर जैसे :
कहने को तो यह बाल अपचारी गृह है, जिसमें 18 साल से कम उम्र के बालक रहते हैं। लेकिन, यह बालक भी संगीन मुकदमों में निरुद्ध होकर यहां आए हैं। यहां रह रहे 38 बाल अपचारियों में करीब 15 के खिलाफ दुष्कर्म, सामूहिक दुष्कर्म, हत्या का प्रयास और हत्या जैसे संगीन मामलों के केस दर्ज हैं। कुछ दिन पहले से यहां पर सुकेत गैंगरेप मामले में आरोपी बनाकर निरुद्ध करवाए नाबालिग भी रह रहे हैं।

2 कमरों में रह रहे 38 बाल अपचारी : बाल संप्रेषण गृह में मात्र 2 कमरों में ही 38 बाल अपचारी रहते हैं, ऐसे में एक कमरे में 15 से ज्यादा संगीन मामलों में निरूद्ध अपचारी रह रहे हैं। वहीं, स्टाफ और अधिकारियों की कमी है, जिसके चलते प्राॅपर मॉनिटरिंग नहीं हो पाती है।

2 साल पहले भिड़े थे दो गुट, स्टाफ पर पथराव कर भाग गया था एक अपचारी
वर्ष 2019 में वर्चस्व की लड़ाई को लेकर बाल संप्रेषण गृह में आपस में दो गुट भिड़ गए थे। एक गुट के बाल अपचारियों ने दूसरे गुट के साथ पलंग के पाइपों, डंडों और बोतलों से हमला किया था तो दूसरे गुट ने भी जमकर मारपीट की। कुल 46 बाल अपचारी आपस में भिड़े और संप्रेषण गृह की सूरत बदल दी थी।

अपचारियों ने टीवी, फ्रिज, वाटरकूलर, ट्यूब लाइट, बल्ब और गेट तोड़ डाला था। वे गद्दों में आग लगाकर खुद छत पर गए और स्टाफ पर वहां से पथराव किया। इस दौरान मौका पाकर एक बाल अपचारी संप्रेषण गृह से फरार भी हो गया था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें