पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एमटी-2 बाघिन:कोटा के चिड़ियाघर में एमटी-2 बाघिन के शावक की हालत नाजुक, इलाज में जुटी डॉक्टरों की टीम

कोटा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चिड़ियाघर में चल रहे एमटी-2 बाघिन के शावक की तबीयत में सुधार के बाद बुधवार काे तबीयत नाजुक हाे गई। डाॅक्टर टीम इलाज में जुटी है। मेडिकल टीम की ओर से पहले इसकी हालत में सुधार था। लेकिन, बुधवार दाेपहर बाद हालत गंभीर हाे गई। उसे फीडिंग के साथ दवाइयां दी है। लेकिन शाम तक स्थिति में सुधार नहीं हाे सका है। वहीं, डाॅक्टर जल्द स्वास्थ्य में सुधार हाेने की बात कह रहे हैं।

शावक काे चिकन के साथ हार्ड पीस भी खाने को दिए लेकिन, उसने नहीं खाए हैं। मेडिकल टीम के अलावा सीसीटीवी कैमरे के अलावा केयरटेकर द्वारा मॉनिटरिंग की जा रही है। मेडिकल टीम की ओर से शावक की मोबाइल से कनेक्टिविटी करके भी निगाह रखी जा रही है। सीसीटीवी की कनेक्टिविटी मोबाइल से करके भी डॉक्टरों की टीम के निगरानी कर रही है। इसकी जांच रिपाेर्ट में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम मिली है। 6 ग्राम हीमाेग्लाेबिन है, जबकि एवरेज 14 ग्राम तक होना चाहिए। साथ ही एनीमिक होने से भी कमजोरी बनी है।

मुकंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व की ओर से एमटी-2 बाघिन के लापता शावक काे लेकर अभी तक चुप्पी साधी हुई है। मामले में विभाग की ओर से अधिकृत बुलेटिन भी जारी नहीं किया है। इसमें खुलासा नहीं करने से विभाग की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान उठने लगे हैं। विभाग के अधिकारियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि शावक की मौत हो चुकी है। सबसे पहले शाव की मौत के बाद बाघिन की मौत हुई है। पहले दिन के बाद दूसरे दिन भी रिजर्व में बर्फ की सिल्लियां मंगवाने की चर्चा भी बनी हैं। लेकिन, इसकी अधिकृत रूप से कहीं पुष्टि नहीं हुई है।

पेंच टाइगर रिजर्व में अवनी बाघिन की माैत के बाद एक फिमेल शावक काे केयरिंग बड़ी समस्या थी। करीब 8 महीने की हाेने और मां नहीं हाेने से इसे पालना चिंता थी। छाेटी हाेने से यह किल भी करना नहीं जानती थी। इन्हें शिकार में करीब डेढ़ साल का समय लगता है। इसे शिकार का किसी भी तरह का अनुभव नहीं था। हमने इसे वाइल्ड रखने के लिए करीब साढ़े पांच हैक्टेयर के एनक्लाेजर में रखा। 19 सीसीटीवी से निगरानी की। एनक्लाेजर में इंसानी दखल बिल्कुल बंद कर दिया। एनक्लाेजर में हमने सबसे पहले इसके लिए छाेटे-छाेटे चिकन पीस भाेजन में दिए। बाद बकरे के मीट देना शुरू किया। यह अच्छी तरह से खाने लगी ताे हड्डी वाला मीट दिया।

यह एक्सपीरियंस सफल रहा ताे एनक्लाेजर में मुर्गी काे छाेड़ा ताे इसने शिकार करना शुरू कर दिया। यह सब कुछ चलता रहा। इसकी नेचुरल हैबीट के लिए एक दिन करीब पांच किलाे वजनी बकरी का बच्चा बांधा। उसने बड़े ही राेमांचक तरीके से उसका शिकार किया। यह सब कुछ नेचुरल हुआ और उसके शिकार की हैबीट हाेने लगी। यह सबसे बड़ी खुशी थी कि यह नेचुरल वाइल्ड हाे रही है। इसके बाद करीब 40 किलाे वजनी पाडा रखा। लेकिन, इसके शिकार के लिए मशक्कत करनी पड़ी। लेकिन, इसने भी किल कर लिया। इसके बाद चीतल के बच्चे और जंंगली सुअर काे भी एनक्लाेजर में रखा। सांभर भी दिया। लेकिन, सांभर का शिकार यह नहीं कर पाई। जंगल की तरह अभी इसने शिकार करना अब सीख लिया है। एनटीसीए ने इसके वाइल्ड में रिलीज करने की परमिशन दे दी हैं। अब हम इसे अक्टूबर में वाइल्ड में रिलीज कर देंगे। - निशा सिंह, बायाेलाॅजिस्ट, पेंच टाइगर रिजर्व, महाराष्ट्र

मुकंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व में आज बाघ मॉनिटरिंग टीम को बाघ एमटी-1 के पगमार्क एवं मूवमेंट मिला। मॉनिटरिंग टीम को बाघ एमटी-4 की डायरेक्ट साइटिंग हुई। एमटी-2 बाघिन के शावक की फीडिंग सीरीज द्वारा की जा रही है। शावक एनिमिक तथा इसका हीमोग्लोबिन बहुत कम पाया गया। डॉक्टरों के दल द्वारा शावक की स्थिति नाजुक बताई है। - बीजाे जाेय, डीसीएफ मुकंदरा हिल्स

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser