हवालात में युवक की मौत:नयापुरा पुलिस थाना स्टाफ लाइन हाजिर, 20 घंटे बाद धरना खत्म, 6 लाख नकद, सीएम रिलीफ फंड से 2 लाख का चेक व संविदा पर नौकरी देने पर सहमति बनी

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
20 घंटे बाद धरना खत्म,परिजनों ने शव लिया। - Dainik Bhaskar
20 घंटे बाद धरना खत्म,परिजनों ने शव लिया।

नयापुरा थाने के हवालात में युवक द्वारा सुसाइड करने के मामले में थाने पर गाज गिरी है। सिटी एसपी डॉ विकास पाठक ने नयापुरा थाना स्टाफ को लाइन हाजिर किया है। एसपी ने बताया कि पुलिस हेडक्वाटर (PHQ) की गाइड लाइन की पालना में कार्रवाई की गई है। मामले की जांच न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा की जा रही है। नयापुरा थाने में CI मुकेश मीणा समेत 34 पुलिसकर्मी थे। जिन्हें लाइन हाजिर किया है।

नयापुरा थाने में CI मुकेश मीणा समेत 34 पुलिसकर्मी थे। जिन्हें लाइन हाजिर किया है।
नयापुरा थाने में CI मुकेश मीणा समेत 34 पुलिसकर्मी थे। जिन्हें लाइन हाजिर किया है।

शहर के नयापुरा थाने में हवालात में कमल लोधा की मौत के मामले में थाने के बाहर चल रहा धरना खत्म हो गया है। करीब 20 घंटे बाद दोनों पक्षों में सहमति के बाद परिजन शव लेने को राजी हुए। मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव सोप दिया गया। सरकार के प्रतिनिधि के रूप में एसडीएम दीपक मित्तल मौके पर पहुंचे। इसी के साथ बुधवार रात 9 बजे जारी धरना आज शाम 5 बजे बाद खत्म हुआ। पूर्व विधायक प्रह्लाद गुंजल ने बताया कि वार्ता के लिए एक समिति का गठन किया गया था। समिति सदस्यों व प्रशासन के बीच वार्ता में मांगों पर सहमति के बाद 20 घंटे से चल रहा धरना खत्म किया है।

ये बनी सहमति

  • पीड़ित परिवार को 6 लाख नकद राशि दी गई। मुख्य मंत्री सहायता कोष से 2 लाख का चेक दिया जाएगा। पीड़िता के अकाउंट संबंधित प्रक्रिया पूरी होने के बाद 2 लाख की राशि खाते में डाली जाएगी।
  • पीड़िता को नगर विकास न्यास या नगर निगम कोटा में संविदा के तहत नौकरी दी जाएगी। बाद में स्थायीकरण के लिए जिला प्रशासन प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजेगा।
  • जिला प्रशासन की ओर से 6 लाख अतिरिक्त मदद के प्रस्ताव बनाकर सरकार को भिजवाए जाएंगे।
  • प्रहलाद गुंजल ने कहा कि मृतक कमल लोधा को पकड़कर लाने वाले 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। साथ ही थाना स्टाफ को लाइन हाजिर किया। उन्हें पोस्टमार्टम रिपोर्ट और न्यायिक जांच पूरा भरोसा है। जांच के बाद दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज होगा।

ये था मामला

बुधवार को मृतक कमल लोधा की मां व बुआ के बेटे रवि ने कमल पर शराब के नशे में मारपीट का आरोप लगाया था। बुआ के बेटे की शिकायत पर शाम 5 बजे करीब पुलिस कमल को पकड़कर थाने लाई थी। और हवालात में बंद किया था। थोड़ी देर बाद कमल ने फ्रेश होने की बात कहीं। इतनी देर में कमल की मां खाना लेकर थाने पहुंच गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कमल ने शर्ट खोलकर हवालात के गेट से फांसी लगा ली। जैसे ही पुलिस कर्मी की नजर पड़ी। तो वहां हड़कम्प मच गया। उसे तुरन्त एमबीएस अस्पताल ले जाया गया। जिसके बाद परिजनों ने मारपीट का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। थाने के बाहर धरने पर बैठ गए थे।

खबरें और भी हैं...