• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • After Khatauli Etawa, Now The Situation In Sangod Worsened, Water Entered The Town Market And Houses Due To Release Of Water From Bhim Sagar Dam, 35 People Including Staff Trapped In Hingi Residential School Kota Rajasthan

कोटा के ग्रामीण इलाकों में बाढ़ का कहर:भीम सागर बांध का पानी छोड़ने से बिगड़े हालात, हिंगी आवासीय विद्यालय में स्टाफ समेत 35 लोग फंसे; सेना जुटी मदद में

कोटा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा के ग्रामीण इलाकों में बाढ़ से हालात बिगड़ चुके हैं। - Dainik Bhaskar
कोटा के ग्रामीण इलाकों में बाढ़ से हालात बिगड़ चुके हैं।

लगातार हो रही बारिश व नदी-नालों से बरसाती पानी आने से जिले के ग्रामीण इलाकों में हालात बिगड़ने लगे हैं। खातौली-इटावा के सांगोद कस्बे में बाढ़ की स्थिति बन गई है। भीम सागर बांध का पानी छोड़ने के बाद सांगोद कस्बा जलमग्न हो गया है। कस्बे के बाजार व घरों में पानी घुस गया है। हिंगी आवासीय विद्यालय में 8-10 फीट पानी भर गया, जिससे स्टाफ व छात्राओं सहित करीब 35 लोग फंसे हैं। पानी का स्तर बढ़ता ही जा रहा है। कलेक्टर उज्ज्वल राठौड़ ,सेना की टुकड़ी के साथ ,नाव और बचाव के अन्य संसाधन लेकर हिंगी के लिए रवाना हुए हैं।

सांगोद कस्बे में बाढ़ की स्थिति बन गई है।
सांगोद कस्बे में बाढ़ की स्थिति बन गई है।
भीम सागर बांध का पानी छोड़ने के बाद सांगोद कस्बा जलमग्न हो गया है।
भीम सागर बांध का पानी छोड़ने के बाद सांगोद कस्बा जलमग्न हो गया है।

स्कूल में फंसे व्याख्याता रमेश ने बताया कि शाम को 5 बजे बाद अचानक जल स्तर बढ़ने लगा। देखते ही देखते बाढ़ के हालात हो गए। विद्यालय परिसर में 6 फीट तक पानी भरा हुआ है। बच्चे, महिलाएं समेत करीब 30 से 35 लोग फंसे हुए हैं। परिसर में खड़ी 5-6 कारें व 10-12 बाइक पूरी तरह से डूब चुकी है।

विद्यालय परिसर में 8-10 फीट भरा पानी।
विद्यालय परिसर में 8-10 फीट भरा पानी।

इधर कस्बे के पुराना बाजार,गणेश कुंज,गांधी चौराहा, नगर पालिका, उजाड़ पुलिया,सराफा बाजार में 2 से 3 फीट पानी भर गया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि 1986 के बाद पहली बार ऐसे पानी आया है।

सांगोद एसडीएम अनिता सहरावत ने बताया कि हिंगी आवासीय विद्यालय में 35 लोग फंसे है। करीब 8 से 10 फीट पानी भरा है। राहत व बचाव के लिए सेना बुलाई गई है। कलेक्टर खुद मौके पर आ रहे हैं।

कोटा में बारिश से हाहाकार:राहत व बचाव कार्य के लिए सेना बुलाई, संभाग स्तरीय अधिकारियों को बिना पूर्व अनुमति मुख्यालय नहीं छोड़ने के निर्देश

खबरें और भी हैं...