• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • On The Normal Situation Of Kareena, About 50 Thousand Students Came From All Over The Country, Now Preparing To Go, Less Than 10 Thousand Were Left.

शहर की लाइफ लाइन पर ब्रेक:काेराेना की स्थिति सामान्य हाेने पर देशभर से आए थे करीब 50 हजार स्टूडेंट्स, अब जाने की तैयारी, 10 हजार से भी कम रह गए

कोटा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जेईई मेन अप्रैल स्थगित और काेराेना के असर से स्टूडेंट्स जा रहे घर, हाॅस्टल्स में गिनती के हैं

काेराेना के कारण शहर की लाइफ लाइन पर एक बार फिर ब्रेक लग गया है। काेचिंग सिटी की स्टूडेंट्स की हलचल थम सी गई है। 18 जनवरी काे काेचिंग्स खुलने के साथ देशभर के अलग-अलग राज्याें से करीब 50 हजार से अधिक स्टूडेंट्स इंजीनियरिंग और मेडिकल परीक्षाओं की तैयारियाें के लिए काेटा आ चुके थे।

लेकिन, काेराेना की दूसरी लहर और जेईई मेन अप्रैल स्थगित हाेने के कारण यहां से करीब 40 हजार स्टूडेंट्स जा चुके हैं। अभी 10 हजार से भी कम स्टूडेंट्स रुके हुए हैं। ये स्टूडेंट्स अपने काे सुरक्षित रखते हुए ऑनलाइन स्टडी में जुटे हैं। वहीं काेचिंग भी ऑनलाइन पढ़ाई शुरू कर दी।

ये स्टूडेंट्स भी 3 मई का इंतजार कर रहे हैं। वहीं, हाॅस्टल संचालक यहां रुके स्टूडेंट्स की पूरी देखभाल कर रहे हैं। वहीं, स्टूडेंट्स काे उम्मीद है कि काेराेना की स्थिति कंट्राेल मेें हाेने पर फिर से काेटा में नई ‌ऊर्जा के साथ एंट्री करेंगे।

यहां रुके स्टूडेंट्स 3 मई का कर रहे इंतजार

हाॅस्टल एसाेसिएशन के नवीन मित्तल का कहना है कि वर्तमान हालाताें काे देखते हुए काफी स्टूडेंट्स घर जा चुके हैं। जाे रुके हैं, उनकी व्यवस्था कर रहे हैं। स्टूडेंट तीन मई और वैक्सीन की स्थिति काे देखते हुए रुके हुए हैं। वाे यहां पढ़ाई में जुटे हैं। हाॅस्टल में गिनती के बच्चे हैं। ऐसे में हाॅस्टल में व्यवस्थाएं करना मुश्किल हाे गया है।
हाॅस्टल में जाे स्टूडेंट्स उनकी डाइट से लेकर सेहत पर पूरा ध्यान

काेरल पार्क हाॅस्टल एसाेसिएशन अध्यक्ष सुनील अग्रवाल बताते हैं कि पहले से स्टूडेंट्स की संख्या में कमी है। काफी बच्चे घर चले गए हैं। लेकिन, अब हाॅस्टल में खर्च निकालना मुश्किल है। जाे बच्चे यहां हैं, उनकी डाइट से लेकर सेहत पर पूरा ध्यान रखा जा रहा है। किसी भी तरह की स्थिति हाेने पर आइसाेलेशन से लेकर ट्रीटमेंट पर पूरा ध्यान हैं। उनके खेलने के लिए समुचित व्यवस्था की है।

खबरें और भी हैं...