मौतों के आंकड़े छुपा रही सरकार:सरकारी रिकॉर्ड में सिर्फ 4 मौतें, कोविड हॉस्पिटलों में 21 की मौत

कोटा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एमबीएस में फर्श पर भर्ती मरीज - Dainik Bhaskar
एमबीएस में फर्श पर भर्ती मरीज
  • सरकार! कितनी भी मौतें छुपाइए... श्मशान के ये रजिस्टर झूठ नहीं बोलते

कोटा में कोरोना का कहर जारी है। महज एक ही दिन में कोटा में 21 मरीजों की मौत हो गई। ये सभी कोविड हॉस्पिटलों में एडमिट थे। जबकि सरकारी रिपोर्ट में सिर्फ 4 मौतें बताई गई हैं। स्टेट की ओर से जारी रिपोर्ट में बुधवार को 687 नए मरीज बताए गए हैं। हालात इतने बुरे हैं कि मुक्तिधाम में वेटिंग की नौबत है, चिताएं जलाने के लिए जगह कम पड़ रही है। मेडिकल काॅलेज के सूत्राें ने बताया कि मंगलवार रात 12 बजे से बुधवार शाम 5 बजे तक नए अस्पताल के विभिन्न वार्डाें में 12 अाैर सुपर स्पेशियलिटी के वार्डाें में 8 राेगियाें की माैत हुई है। वहीं, एमबीएस अस्पताल के काेविड वार्डाें में एक राेगी ने दम ताेड़ा है।

बीते कुछ दिनों में नए मरीजों की संख्या जरूर कम हो रही है, लेकिन मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। ये वे मौतें हैं, जो अस्पताल में हो रही हैं। इसके अलावा कई लोगों की घरों पर ही सांसें टूट रही हैं। वहीं जलदाय विभाग के 14 में से 5 एक्सईएन, एईएन व जेईएन कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं।

इनमें एक एक्सईएन, तीन एईएन व एक जेईएन शामिल हैं। कोरोना से 3 रेलकर्मियों की मौत हो गई और 17 नए कोराेना पॉजिटिव सामने आए हैं। रेलवे वर्कशॉप के चीफ ओएस प्रेमचंद शर्मा की कोरोना से मौत हो गई।
3 घंटे में फुल हो गया वार्ड
एमबीएस अस्पताल में बुधवार दोपहर में इमरजेंसी मेडिसिन वार्ड को कोविड वार्ड बनाया गया। दोपहर करीब ढाई बजे अधीक्षक डॉ. नवीन सक्सेना ने ऑर्डर किए। यहां भर्ती मरीजों को दूसरे वार्ड में शिफ्ट किया और जैसे ही यह खबर सोशल मीडिया पर फैली तो शाम करीब 6 बजे तक इस वार्ड के सभी 30 बेड फुल हो गए।
रोज चित्तौड़गढ़ से आएंगे 30 ऑक्सीजन सिलेंडर
प्रिंसिपल डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि अब रोजाना चित्तौड़गढ़ स्थित ऑक्सीजन प्लांट से 30 सिलेंडर कोटा के मेडिकल कॉलेज को दिए जाएंगे। संभागीय आयुक्त ने इसके आदेश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...