आंधी से एमबीएस अस्पताल की बिजली गुल:अस्पताल के आईसीयू में ऑक्सीजन सप्लाई हुई बाधित, अंबु बैग से देना पड़ा ऑक्सीजन

कोटाएक महीने पहले
अंबु बैग से ऑक्सीजन

सोमवार देर शाम को शहर में आई आंधी के चलते रात को एमबीएस अस्पताल की बिजली भी गुल हो गई। बिजली बंद हुई तो अस्पताल के आईसीयू में ऑक्सीजन सप्लाई में भी दिक्कत आ गई। जिसके चलते मरीजों की जान तो सांसत में आई ही अस्पताल प्रशासन के भी हाथ-पांव फूल गए। एमबीएस अस्पताल पहले ही मरीज को चूहे कुतरने के मामले और बार-बार लाइट के जाने के चलते विवादों में है। आनन-फानन में भर्ती मरीजों को अंबु बैग से ऑक्सीजन दी गई।

दरअसल सोमवार देर शाम को शहर में आंधी आई जिसके चलते शहर की बिजली व्यवस्था गड़बड़ा गई। नयापुरा इलाके में स्थित एमबीएस अस्पताल में भी बिजली गुल हो गई। हालांकि बिजली बंद होते ही अस्पताल का लाइट सिस्टम जनरेटर पर शिफ्ट हो गया। लेकिन इसके बाद भी ऑक्सीजन सप्लाई बाधित रही। आईसीयू में ऑक्सीजन का प्रेशर लो होने से हड़कंप मच गया। स्ट्रोक यूनिट में भर्ती रूपवती की हालत बिगड़ने लगी तो पति देवेंद्र को अंबु बैग से ऑक्सीजन देनी पड़ी। रूपवती वेंटिलेटर पर है। रूपवती वही पेशेंट है जिसकी पलकों को चूहा कुतर गया था। अस्पताल में करीब 40 मिनट तक ऑक्सीजन सप्लाई बाधित रही। हालांकि स्ट्रोक यूनिट में कुछ समय के बाद सिलेंडर का इंतजाम कर लिया गया। वहीं अस्पताल के अधीक्षक डॉ नवीन सक्सेना के अनुसार 25 मिनट तक यह समस्या रही थी मरीजों को सिलेंडर से ऑक्सीजन दी गई।

बार बार विवादों में रहता है अस्पताल

संभाग का सबसे बड़ा एमबीएस अस्पताल बार बार विवादों में रहता है। पहले भी यहां लाइट जाने की वजह से टॉर्च की रोशनी में इलाज करने का मामला सामने आ चुका है। वहीं कुछ दिन पहले स्ट्रोक यूनिट में भर्ती रूपवती की पलकों को चूहा कुतर गया था। जिसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ने भी निरीक्षण कर अव्यवस्थाओं पर नाराजगी जताई थी।

खबरें और भी हैं...