पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Police Sent 60 People Found Walking Around, Quarantine Center, Rules So Strict That Even Mobiles Will Not Be Found

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

क्वारेंटाइन जेल:पुलिस ने घूमते मिले 60 लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर भेजा, नियम इतने सख्त कि मोबाइल भी नहीं मिलेगा

कोटा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में बेवजह घूमने वाले लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर भेजा। - Dainik Bhaskar
शहर में बेवजह घूमने वाले लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर भेजा।
  • बेवजह घर से बाहर निकलने से पहले यह खबर पढ़ लें, क्योंकि शहर में सख्त पहरा है

महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़ा के पहले दिन रविवार को वीकेंड कर्फ्यू के दौरान भी लोगों ने बिना वजह घूमना कम नहीं किया। पुलिस ने नई गाइडलाइंस के मुताबिक शहर के 17 थाना क्षेत्रों के विभिन्न इलाकों से बेवजह बाहर घूमने वाले 50 लोगों पकड़ा हैं और सभी 50 जनों को संस्थागत क्वारेंटाइन कर दिया। क्वारेंटाइन सेंटर के तौर पर जिला प्रशासन ने पुलिस कंट्रोल रूम के पास स्थित सोफिया स्कूल का अधिग्रहण किया हैं।

पुलिस ने रविवार को इन सभी 50 व्यक्तियों को स्कूल के एक हॉल में क्वारेंटाइन किया हैं। क्वारेंटाइन सेंटर इंचार्ज डीएसपी अंकित जैन ने बताया कि क्वारेंटाइन में ऐसे लोगों को अस्थाई रूप से रखा जाएगा जो बिना कारण सड़कों पर घूम रहे हैं। यहां के नियम बड़े सख्त रहेंगे। किसी को किसी से मिलने नहीं दिया जाएगा, न ही किसी को मोबाइल यूज करने की परमिशन होगी। 50 लोगों से उनके मोबाइल जब्त कर लिए गए हैं, जो उन्हें बाद में दिए जाएंगे।

बिना काम के घूमे तो सुपर स्प्रेडर माना जाएगा
एसपी सिटी डॉ. विकास पाठक ने कहा कि सभी घरों पर सुरक्षित रहें। किराना, सब्जी, फल, दूध, पहले से लिखी दवा इन सबकी छूट है, लेकिन रोजाना घर से निकलने की जरूरत नहीं है। आवश्यकता पर सिर्फ सुबह 11 बजे तक की छूट है। ऐसा देखने को मिल रहा है कि लोग इस बहाने रोज घूम रहे हैं, यह छूट का नाजायज फायदा उठाना है। 12 बजे के बाद अगर कोई बिना वजह घूमता पाया गया तो पहले से पुलिस ज्यादा सख्ती से पेश आएगी। उसे बक्शा नहीं आएगा, क्योंकि ऐसा माना जाएगा कि वो ही कोरोना फैला रहा है। उसे क्वारेंटाइन सेंटर भेजेंगे, जरूरत पड़ी को मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तार करेंगे।

जांच कराएंगे, रिपोर्ट निगेटिव आने तक यहीं रखेंगे
डीएसपी अंकित जैन ने बताया कि पुलिस जिनको भी पकड़कर क्वारेंटाइन सेंटर लाएगी, अगर वो पॉजिटिव पाए गए तो उन्हें 14 दिनों तक अथवा रिपोर्ट निगेटिव नहीं आने तक यहीं रहना होगा। वहीं, जिसे यहां लाया जाएगा, उसे कम से कम दो दिन तो रहना ही पड़ेगा। क्योंकि पहले दिन सबका कोरोना टेस्ट होगा, उस दिन किसी को नहीं छोड़ेंगे। दूसरे दिन शाम तक जांच रिपोर्ट आई तो ठीक, वरना अगले दिन तक रिपोर्ट आने पर निगेटिव लोगों को घर जाने दिया जाएगा।

शपथ पत्र देना होगा, केस दर्ज होगा : पुलिस के मुताबिक रिपोर्ट आने पर निगेटिव लोगों को घर जाने दिया जाएगा, लेकिन उनको एक शपथ पत्र देना होगा, जिसमें लिखा होगा कि अब वो बेवजह घूमता पाया गया तो उस पर महामारी अधिनियम के तहत केस दर्ज करके जेल भेज दिया जाएगा। वहीं, इस सेंटर पर किशोरपुरा पुलिस का जाब्ता तैनात होगा। अगर किसी ने यहां कोई बदमाशी की, भागने का प्रयास किया या नियमों को तोड़ा तो उसके खिलाफ शांतिभंग, राजकाज में बाधा डालने, धारा 144, महामारी अधिनियम समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज होगा। ऐसी सख्त धाराओं में केस दर्ज किया जाएगा, जिसमें जमानत का प्रावधान न हो।

ऐसे की है व्यवस्था : सोफिया स्कूल के एक हॉल में 6 से 8 फीट की दूरी पर बिस्तर लगाए गए हैं।

  • इस हॉल में अटैच 5 लेट-बाथ हैं, सभी को इनका यूज करना होगा। हर बार यूज करने के बाद सेनेटाइज किया जाएगा।
  • सभी को एक ब्रश, टूथ-पेस्ट दिया जाएगा। नहाने को साबुन मिलेगा और भामाशाहों की मदद से दोनों समय के खाने का इंतजाम किया जाएगा।
  • यहां पर डॉक्टरों की दो टीमों की व्यवस्था है। पहली टीम साधारण बीमारियों और कोरोना की दवा के लिए। दूसरी टीम-कोरोना के सैंपल लेकर जांच करने के लिए।
  • हॉल के अलावा 5 कमरे अटैच लेथ-बाथ वाले हैं, जिनका यूज पॉजिटिव को रखने को किया जाएगा।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें