पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

माहे रमजान:घर पर अदा की रमजान के आखिरी जुमे की नमाज

कोटा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • काेराेना संक्रमण के चलते बाजारों में नहीं दिख रही ईद की खरीदारी की चहल-पहल

कोरोना संक्रमण ने इस बार ईद की खुशियां छीन ली हैं। राेजेदाराें द्वारा इस बार घराें पर ही नमाज अदा कर अमन चेन की दुआएं की है।  लॉकडाउन और कफ्र्यू के चलते शहर में त्योहारों की रौनक गुम हो गई है। रमजान में गुलजार रहने वाले बाजारों में सन्नाटा पसरा है। बाजारों से चहल-पहल भी गायब है। अब जब ईद आने को है और लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ गया है, तो इसका असर बाजार पर भी पड़ा है।
मुस्लिम समाज के लाेगाें का कहना है कि शायद यह पहली बार ऐसी ईद होगी, इसको लेकर मुस्लिम समाज के लाेगाें में काेई उत्साह नहीं है। मां-बाप बच्चों को न नए कपड़े दिला पाए, न जूते और न ही महिलाओं और बेटियों के लिए हार- शृंगार का सामान खरीद पाए। घरों की साज-सज्जा के लिए भी वस्तुओं की खरीदी नहीं की गई। त्योहार की रंगत गुम सी हो गई है। लॉकडाउन की वजह से बाजार पूरी तरह बंद है। इस बीच कई पर्व और त्योहार चले गए, लेकिन रौनक नहीं दिखी। मंदिर और मस्जिद में भी सन्नाटा है। रमजान में गुलजार रहने वाले बाजार सूने पड़े हैं। लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में नवरात्रि में मंदिरों के पट बंद हो गए थे। अब मस्जिदों के आस-पास होने वाली रौनक नहीं दिख रही है। गर्मी के दिनों में अब रास्तों पर छबीले नहीं लग पाई हैं।
अच्छी पहल: ईद पर कपड़े नहीं खरीद कर उस राशि से जरूरतमंदों को 200 राशन किट बांटना शुरू किया
रमजान का पवित्र माह पूरा होने को है और हर किसी को ईद का इंतजार है। हर वर्ष से अलग इस बार ईद पर कई बंदिशें भी हैं तो माहौल भी बदला हुआ है। शहर में कई लोगोें के चेहरों पर रोजगार छिनने का दुख है तो कई लोग ऐसे भी हैं। जिनके पास खाना बनाने के लिए 15 दिन का भी राशन नहीं है। ऐसे में शहर में एक परिवार ऐसा भी है जो अपनी ईद की खुशियों में ऐसे ही जरूरतमंदाें को शामिल करना चाहता है। इनके घर में खाने को राशन नहीं है। भाजपा किसान माेर्चा के जिला महामंत्री हुसैन देशवाली ने बताया कि हर बार उनके परिजन ईद पर नए-नए वस्त्र व अन्य सामग्री पर जितना खर्च करते थे। इस बार सभी ने फैसला किया है कि उस खर्च के बदले जरूरतमंदों को राशन सामग्री बांटेंगे, ताकि उनके चेहरे पर भी इस ईद के मौके पर खुशी दिखाई दे। देशवाली ने किट का वितरण अभी से ही शुरू कर दिया है।
सभी काे देंगे किट : रमजान का पाक माह है। इस माह में जितना भी धर्म किया जाए वाे कम हाेता है। ऐसे में हमारे द्वारा करीब 200 से अधिक सूखे राशन के पैकेट बनवाए गए है, जाे जरूतमंदाें काे दिए जाएंगे। देशवाली ने बताया कि इस माह में खुदा द्वारा हर चीज में बरकत दी जाती है। ऐसे में ये राशन किट मुस्लिम ही नहीं, हिन्दू परिवाराें काे भी बांटे जाएंगे।
कपड़ा बाजार की गलियां सूनी, करोड़ों का नुकसान
कोरोना वायरस ने इस बार ईद के उत्साह को फीका कर दिया। लॉकडाउन के कारण बाजार में दुकानें बंद हैं। लोग ईद को लेकर किसी प्रकार की खरीदारी में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। शहर के मांडा गली कपड़ा बाजार में ईद त्योहार के समय पैर रखने की जगह नहीं होती थी, लेकिन गलियों में दुकानें बंद होने से सन्नाटा पसरा है। कपड़ा व्यापारी शेख सद्दाम ने बताया कि लॉकडाउन के चलते 5 करोड़ का नुकसान हुआ है। रमजान के दिनों में कपड़ा बाजार देर रात तक गुलजार रहता था। लोग खरीदारी में व्यस्त रहते थे, लेकिन इस बार कोरोना के चलते सब गड़बड़ है। ईद पर्व को मात्र 2 से 3 दिनों का समय शेष बचा हुए है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें