अपेक्षा ग्रुप के डायरेक्टर व सीए को जेल:कम्पनियां बनाकर रकम दुगुना करने का झांसा दिया, चार जिलों में करीब 100 करोड़ से ज्यादा की ठगी की

कोटा5 महीने पहले

चिटफंड कंपनी बनाकर लोगों को अमीर बनाने के सपने दिखाकर ठगी करने के आरोपियों को आज कोर्ट में पेश किया गया। जहां से कोर्ट ने अपेक्षा ग्रुप के 2 डायरेक्टर व 1 सीए को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने के आदेश दिए। डीएसपी अमर सिंह ने बताया कि कोर्ट ने अपेक्षा ग्रूप के डायरेक्टर दुर्गा शंकर मेरोठा,गिरिराज नायक व सीए हिमांशु विजय को जेल भेजने के आदेश दिए है। इस मामले में एक और डायरेक्टर संजय कश्यप पहले से ही जेल में है।जिसे जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लिया हैं।

ये था मामला

ठगी का मास्टर माइंड अपेक्षा ग्रुप का निदेशक मुरली मनोहर नामदेव बारां का निवासी है। जो अभी फरार चल रहा है। मुरली ने पहले पार्टनशिप फर्म में काम किया। फिर देखते ही देखते 12 कम्पनियां खड़ी कर ली। कम्पनी में 38 लोगों को डायरेक्टर बनाया। जिसनें महिलाएं भी शामिल थी। कम्पनी दो तरीके से लोगों से ठगी करती थी।

कम्पनी के डायरेक्टर SC की जमीनों को खरीदते थे। मोटा मुनाफा दिलाने के बहाने इन्ही जमीनों में लोगों से पैसा इन्वेस्ट करवाते थे। निवेश के बदले लोगों को प्लॉट की फाइल बतौर सिक्युरिटी देते थे। कम्पनी के डायरेक्टर SC की खरीदी गई जमीन का कन्वर्जन नहीं करवाते थे। इसके अलावा 3 साल में रकम दुगनी करने का झांसा देते थे। निवेशक से बकायदा इसका स्टॉप पर एग्रीमेंट करते थे। भरोसे में आकर कोटा, बूंदी,बारां व झालावाड़ के लोगों ने कम्पनी में इन्वेस्ट किया। शहर के थानों में कम्पनी डायरेक्टरों के खिलाफ 50 मामले दर्ज हो चुके है। एक अनुमान के मुताबिक कम्पनी ने 4 जिलों के ढाई से तीन हजार निवेशकों से 100 करोड़ से ज्यादा की ठगी की है।