कांग्रेस MLA ने मंत्री को 2 मौत का जिम्मेदार माना:भरत सिंह बोले, लंबे समय से क्षेत्र में अवैध खनन करवा रहे खान मंत्री, मंत्री से इस्तीफा लें सरकार

कोटा2 महीने पहले
कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक भरत सिंह।

पूर्व मंत्री व सांगोद से कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक भरत सिंह ने एक बार फिर प्रदेश के खनन मंत्री पर निशाना साधा है उन्होंने बिना नाम लिए सिमलिया थाना क्षेत्र में करंट की चपेट में आने से दो लोगों की मौत का जिम्मेदार खनन मंत्री को माना। उन्होंने खनन मंत्री पर अवैध खनन के आरोप लगाते हुए कहा खनन मंत्री को तुरंत त्याग पत्र दे देना चाहिए। सरकार को भी उनसे इस्तीफा ले लेना चाहिए।

मीडिया से बातचीत में भरत सिंह ने कहा कि गढ़ेपान इलाके में बोर मशीन अवैध खनन के काम में गई थी। जब मशीन वापस आई तो बोर मशीन का पाइप,बिजली की लाइन के टच हो गया जिसमें दो लोगों की मौत हो गई। सूचना पर मौके पर गया, जानकारी जुटाई तो पता लगा जिस विषय को में लंबे समय से उठा रहा हुं उसकी पुष्टि हुई।खान की झोपड़ी में बड़े पैमाने पर अवैध खनन होता है। उस जगह इस मशीन के द्वारा करीब 100 जगह बोर किए गए थे। जिनमें पत्थर को ढीला करने के लिए डायनामाइट का पाउडर डालना था।

इस मामले को लेकर बारां कलेक्टर व एसपी को सूचना दी और मौके पर जाकर देखने को कहा। उन्होंने मौके पर जाकर देखा और पाया कि वहां बड़े पैमाने पर अवैध खनन हो रहा है। इस कारण आज दो मौतें हुई है। उन्होंने कहा कि अगर यह मशीन वहां नहीं गई होती तो आज दो मौत नहीं होती। मेरी मांग है कि इसके ऊपर कार्रवाई करें। यह मामला गंभीर बन जाता है। ये क्षेत्र प्रदेश के खनन मंत्री का विधानसभा क्षेत्र है। दो लोगों की मौत पर उनकी जिम्मेदारी बनती है। दो मौतों के लिए में उनको जिम्मेदार मानता हूं। वो अवैध खनन करवा रहे हैं उनको त्यागपत्र देना चाहिए। सरकार को उनसे इस्तीफा मांग लेना चाहिए।

क्योंकि उन्होंने बहुत लंबे समय से अवैध खनन की छूट दे रखी है, अपने क्षेत्र के अंदर। कोई अधिकारी कार्रवाई करने का साहस नहीं करेगा, माइनिंग डिपार्टमेंट का तो कोई जाएगा नहीं। मैने इसकी सूचना के माइनिंग विभाग के प्रमुख सचिव को भी दी है और वीडियो भी भेजें।अब देखते है सरकार इस पर क्या कार्रवाई करती है।

ये था मामला

कोटा के सिमलिया थाना क्षेत्र में सोमवार सुबह करीब साढ़े 7 बजे दो युवक करंट की चपेट में आकर जिंदा जल गए। दोनों बोरिंग की गाड़ी में बैठे थे। साइड में लगाने के लिए गाड़ी पीछे करते समय मशीन का पाइप हाईटेंशन बिजली के तार से टच हो गया और बिजली का तार सड़क पर गिर गया।इस दौरान ड्राइवर का साथी नीचे उतरा तो वह करंट की चपेट में आ गया। 11KV की लाइन छूते ही उससे शरीर में आग गई। ड्राइवर और उसके साथी के हाथ-पैर और चेहरे बुरी तरह से झुलस गए। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...