पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • RTU Did Not Return The Caution Money Of 43 Lakhs To 689 Students, RTU Administration Says That The Delay Due To Kovid 19

आरटीई से हुआ खुलासा:आरटीयू ने 689 स्टूडेंट्स को नहीं लौटाई 43 लाख की कॉशन मनी, प्रशासन का कहना है कि कोविड-19 के कारण हुई देरी

काेटा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्टूडेंट्स इस राशि के वापसी की मांग कर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
स्टूडेंट्स इस राशि के वापसी की मांग कर रहे हैं।

कोरोना में वर्ष 2020 आरटीयू से पास आउट 689 स्टूडेंट्स की 43 लाख 84 हजार रुपए कॉशन मनी अभी तक नहीं लौटाई है। स्टूडेंट्स काे 1 साल से इसका इंतजार है। स्टूडेंट्स इस राशि के वापसी की मांग कर रहे हैं। आरटीयू काेटा में बैच 2016-2020 के तीन कोर्स बीटेक, एमबीए एवं एमटेक में रजिस्टर्ड 689 स्टूडेंट्स द्वारा कुल 48 लाख 47 हजार 500 रुपए की कॉशन मनी कॉलेज में एडमिशन के समय जमा करवाई थी। जो अभी तक रुका हुआ है।

वहीं, आरटीयू प्रशासन का कहना है काेविड-19 के कारण इसमें देरी हुई है। वित्त विभाग से प्राेसेस कर नियमानुसार राशि स्टूडेंट्स काे लाैटा दी जाएगी। यह खुलासा आरटीयू काेटा के एलुमनी सुजीत स्वामी की आरटीई में दिए जवाब में सामने आया है।

स्टूडेंट्स की कॉशन मनी से भी काट ली है राशि : दाखिले के समय जमा हाेते हैं 7000 से 7500 रुपए

एलुमनी सुजीत स्वामी काे आरटीयू काेटा की ओर से आरटीआई में मिले जवाब में बताया कि आरटीयू काेटा ने स्टूडेंट्स के दाखिले के समय जमा करवाई जाने वाली कॉशन मनी में से भी ईसीके यानी एलुमनी एसोसिएशन- लाइब्रेरी देय राशि के नाम पर कुछ राशि काट ली है। काटी राशि में भी समानता नहीं है। इसी बैच के पास आउट प्रत्येक बीटेक स्टूडेंट्स से 686 रुपए, एमटेक स्टूडेंट्स से 500 रुपए एवं एमबीए स्टूडेंट्स से 572 रुपए काटे हैं। जबकि कॉलेज छोड़ने वाले प्रत्येक बीटेक स्टूडेंट्स से 385 और पास आउट एवं कॉलेज छोड़ने वाले प्रत्येक एमटेक स्टूडेंट्स से 455 रुपए, एमबीए स्टूडेंट्स से 425 रुपए काट लिए है। जबकि काॅशन मनी में 7000 से 7500 रुपए जमा हाेते हैं।

आराेप : स्टूडेंट्स के हित में नहीं : आरटीयू काेटा के एल्युमिनी सुजीत स्वामी ने बताया कि सालभर बाद भी स्टूडेंट्स को परीक्षा नियंत्रक से प्रोविजनल डिग्री एवं कंसाेलिडेट मार्कशीट नहीं प्राप्त होने के कारण काॅशन मनी नहीं लौटाई है। इसके बारे में आरटीयू काेटा को सोचना चाहिए। इसके अलावा जो राशि ईसीके एलुमनी के नाम पर काटी है, यह सरासर गलत है। कॉशन मनी में से इस तरह का डिडक्शन करना बिल्कुल भी स्टूडेंट्स के न तो हित में है न ही यह ईमानदारी है।

आरटीयू काेटा का जवाब : आरटीयू काेटा की ओर से चीफ प्राेक्टर की ओर से आरटीआई में दिए जवाब में बताया कि परीक्षा नियंत्रक से प्रोविजनल डिग्री एवं कंसोलिडेट मार्कशीट प्राप्त नहीं होने की वजह से भी बीटेक कोर्स के 632 स्टूडेंट्स की 39 लाख 86 हजार रुपए से अधिक की जमा रकम वापस नहीं लौटाई है। इसके अलावा 48 एमबीए एवं 9 एमटेक कोर्स के स्टूडेंट़्स की 3 लाख 98 हजार रुपए से अधिक जमा रकम कोई रिफंड क्लेम संबंधित दस्तावेजों के साथ नहीं मिलने से रोक रखी है।

परीक्षा नियंत्रक की ओर से प्राेविजनल डिग्री और कन्साेलिडेट मार्कशीट नहीं मिली है। इसके मिलते ही काॅशन मनी देने की प्रक्रिया शुरू हाे जाएगी।
-प्राे. प्रवीण अग्रवाल, चीफ प्राेक्टर आरटीयू काेटा

हमने कुछ स्टूडेंट्स की प्राेविजनल डिग्री और कन्साेलिडेट मार्कशीट उन्हें दे दी है। काॅशन मनी के लिए दाे-तीन दिन में स्टूडेंट्स की चीफ प्राेक्टर काे प्राेविजनल डिग्री और कन्साेलिडेट मार्कशीट भिजवा देंगे।
-प्राे. धीरेंद्र माथुर, परीक्षा नियंत्रक आरटीयू काेटा