• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Salute To Martyrdom... From 1951 To 2020, 187 Policemen Were Martyred In The State And This Year 377 Soldiers Were Martyred In The Country, Including Two From Rajasthan.

पुलिस शहीद दिवस विशेष:1951 से 2020 तक प्रदेश में 187 पुलिसकर्मी और देश में इस साल 377 जवान शहीद हुए, दो राजस्थान के भी

कोटाएक वर्ष पहलेलेखक: समकित जैन
  • कॉपी लिंक
शहीद सीआई मुकेश कानूनगो। - Dainik Bhaskar
शहीद सीआई मुकेश कानूनगो।

खाकी पर लिखी सीनियर आईपीएस रेणुका मिश्रा की यह पक्तियां सुनकर हर पुलिसकर्मियों का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। हमारी रक्षा में सीमा पर सैनिक तैनात हैं और देश के भीतर पुलिसकर्मी। वो सीमा पर देश के लिए गोली खा रहे और भीतर पुलिसकर्मी बदमाशों से सिस्टम को बचाने में लगे हैं।

इन शहीदों में पुलिस के अलावा अर्द्धसैनिक बल शामिल हैं। पुलिस की बात करें तो राजस्थान में वर्ष 1951 से वर्ष 2020 तक कुल 187 पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं। वर्ष 2021 में देशभर में कुल 377 शहीद हुए हैं। इसमें पुलिस व समस्त अर्द्धसैनिक बल शामिल हैं। इस वर्ष राजस्थान से दो पुलिसकर्मियों को इस सूची में शामिल किया है। पढ़िए, ऐसे 4 पुलिस जवानों की कहानियां आपके सामने ला रहा है, जो ड्यूटी के दौरान शहीद हो गए।

बस नफा ही तौले दुनिया, क्या जाने कितने घाटे हैं! मैंने छीन के अपने बच्चों से, औरों को बचपन बांटे हैं!! होली-दीवाली मैं खुद ही, मैं खुद ही ईद-बैसाखी हूं! साधारण कोई वस्त्र नहीं, मैं सांसें भरती खाकी हूं!!

प्रदेश के 4 ऐसे पुलिसकर्मियों की कहानियां, जो बदमाशों से लड़ते-लड़ते हुए शहीद

1. बदमाशों को नाकाबंदी में रोका तो सीआई व कांस्टेबल को गोलियों से भून दिया

सीकर जिले के थाना कोतवाली फतेहपुर सीआई मुकेश कानूनगो 6 अक्टूबर 2018 को कांस्टेबल रामप्रकाश, रमेश कुमार, सांवरमल व शिव भगवान के साथ चैकिंग के लिए थाने से रवाना हुए। उदनसर स्टैंड से 2 किमी पहले बोलेरो को रोककर चेक करने की कोशिश की 5-7 बदमाश फायरिंग कर दी। फायरिंग में मुकेश व रामप्रकाश की माैत हाे गई।

2. सड़क दुर्घटना में मौके पर ड्यूटी कर रहे हैडकांस्टेबल को कुचल गया ट्रेलर

टोंक जिले की जूनिया पुलिस चौकी प्रभारी हैड कांस्टेबल शंकरलाल 14 जून 2020 को रात 11.30 बजे सरोली मोड पर पिकअप के एक्सीडेंट होने पर मौके पर गए। तभी वहां हाईवे मोबाइल भी आ गई। और पिकअप साइड किया जा रहा था। तभी एक ट्रेलर ने शंकरलाल व रत्तीराम को कुचल दिया। हादसे में शंकरलाल की मृत्यु हो गई।

3. अवैध खनन करने वालों को रोका तो कांस्टेबल को डंपर से कुचल दिया

अलवर में अवैध खनन (चेजा पत्थर) के डंपरों पर कार्यवाही के लिए 6 जून 2017 को हैड कांस्टेबल साधूराम, कांस्टेबल लालाराम थाने से रवाना हुए। बहादरी नाका पर पहुंचे तो एक डंपर आता दिखा। चालक ने पुलिस देख रास्ता बदल लिया। पुलिसकर्मी पीछा करने लगे ताे तीसरे डंपर चालक ने कांस्टेबल लालाराम को कुचल दिया।

4. चोरी के आरोपी से पूछताछ की तो एएसआई के सिर पर रोड मारकर हत्या कर दी

सीकर थाना फतेहपुर में ओमप्रकाश एएसआई के पद पर तैनात थे। 23 अक्टूबर 2013 को सरदारपुरा चौराहा पर चौधरी धर्मकांटे के पास वो घायल मिले। पुलिस ने मौके पर जाकर देखा तो पता लगा कि ओमप्रकाश के सिर पर किसी ने राॅड मारी है। पुलिस ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया। जहां दो दिन बाद उनकी मृत्यु हो गई।