कोटा में आ सकती है आफत:ब्लड बैंकों में एसडीपी किट खत्म, 3 हजार प्लेटलेट्स वाले मरीजों काे भी नहीं मिल रही

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकारी से लेकर प्राइवेट हाॅस्पिटलाें में भर्ती डेंगू के मरीजाें की स्थिति गंभीर हाे रही है। सरकारी से लेकर प्राइवेट ब्लड बैंकाें में एसडीपी किट नहीं है। प्राइवेट में जिनके पास एक-दाे किट बचे हैं, उन्हाेंने इमरजेंसी के लिए रिजर्व कर दिए और एमबीएस के ब्लड बैंक में केवल उन्हें ही किट दिया जा रहा है जिन मरीजाें के ब्लीडिंग हाे रही है।

जिन मरीजाें के प्लेटलेट्स 3 से 16 हजार रह गई हैं, एेसे मरीज के परिजन एसडीपी की पर्ची लेकर प्राइवेट से लेकर सरकारी ब्लड बैंकाें में सुबह से लेकर रात तक दर-दर भटक रहे हैं, लेकिन उन्हें किट उपलब्ध नहीं हाे रहा है। वहीं सीएमएचओ का कहना है कि 10 हजार से कम प्लेटलेट्स पर यदि काेई हाॅस्पिटल एसडीपी चढ़ा रहा है ताे वाे प्राेटाेकाॅल का उल्लंघन कर रहा है।

पिछले तीन दिनाें में 54 नए मरीज पाॅजिटिव अा चुके हैं। इनमें 4 नवंबर काे 19, 5 नवंबर काे 25 और 6 नवंबर काे 10 डेंगू मरीज आए हैं। इसके अलावा हाड़ाैती के कस्बाें से लेकर गांवाें तक के मरीज इलाज के लिए काेटा आरहे हैं।ऐसे कई मरीज हैं, जिनकी प्लेटलेट्स तेजी से गिर रही है और डाॅक्टराें द्वारा एसडीपी चढ़ाना ही एक मात्र विकल्प बताया जा रहा है। शनिवार काे शहर के प्राइवेट ब्लड बैंकाें से लेकर एमबीएस तक लाेग भटकते दिखे। ऐसे कई मामले भास्कर के पास आए जिनमें सुबह से लेकर रात तक ब्लड बैंकाें में भटकने के बाद भी एसडीपी किट नहीं मिल सकी।

खबरें और भी हैं...