​​​​​​​सड़क हादसे में 6 लोगों की मौत का दर्द:बेरोजगार युवक का REET में था आखिरी अटैम्पट; ड्राइवर से पिता ने कहा था- नींद आए तो ढाबे पर रुक कर सो जाना

कोटा- बारां2 महीने पहले

जयपुर के चाकसू में शनिवार सुबह NH-12 निमोडिया मोड़ पर ट्रक और वैन की भिड़ंत में 6 लोगों की मौत हुई। हादसे में 5 लोग घायल हो गए। कार सवार सभी लोग बारां जिले के निवासी हैं। इनमें 10 REET के लिए सीकर जा रहे थे। एक कार ड्राइवर था। हादसे की सूचना गांव में आग की तरह फैल गई। मृतक परिवार की महिलाओं को मौत की खबर से अनजान रखा गया। पीड़ित परिवार के घरों के आसपास रिश्तेदार पहुंच गए। केवल घायल होने की सूचना दी गई।

वेद प्रकाश के दो बच्चे हैं,चार साल से REET की तैयारी कर रहा था।
वेद प्रकाश के दो बच्चे हैं,चार साल से REET की तैयारी कर रहा था।

पिता से किराए के रुपए लेकर निकला था वेद प्रकाश
हादसे में कार सवार वेद प्रकाश (38) निवासी हनुमंतखेर, मुसई गुजरान की भी मौत हो गई। वो बेरोजगार था। खेती करता था। चार साल से REET की तैयारी कर रहा था। वेद प्रकाश के दो बच्चे हैं। 14 साल का लड़का व 11 साल की बेटी। मृतक के पिता बृजमोहन ने बताया कि वो रिटायर्ड टीचर है। तीन बेटों में वेद प्रकाश सबसे बड़ा था। 7 साल से अलग रहकर खेती संभाल रहा था। चार साल से REET की तैयारी कर रहा था। ओवर एज होने के चलते उसका ये आखिरी चांस था।

उससे दो दिन पहले जाने को बोला था। पिता ने कहा था घर की गाड़ी है, ड्राइवर करके ले जाना। उसने मना कर दिया। सीकर के लिए रवाना होने से पहले शुक्रवार को मिला। किराए के 2 हजार रुपए मांगे थे। तब उसने कहा था सभी दोस्त साथ जा रहे हैं। आज सुबह 9 बजे हादसे की सूचना से कलेजा फट गया। बेटे व भतीजे को जयपुर भेजा है। जवान बेटे की मौत से पूरा परिवार सदमे में है।

दिलीप की मौत की सूचना के बाद से पिता व दादी का रो-रो कर बुरा हाल है
दिलीप की मौत की सूचना के बाद से पिता व दादी का रो-रो कर बुरा हाल है

पिता ने दी थी नसीहत- नींद लगे तो ढाबे पर गाड़ी खड़ी करके सो जाना
मृतक दिलीप के पिता भूपेंद्र मेहता ने बताया कि दो बच्चों में दिलीप बड़ा था। गोवर्धनपुर, थाना कवाई सालपुरा में खेती व किराना की दुकान संभालता था। घर मे एक कार है, जो पहले स्कूल में लगा रखी थी। कोरोना के बाद से घर पर ही खड़ी रहती थी। रोजमर्रा के काम आती थी। दिलीप के दोस्तों ने उससे गाड़ी से परीक्षा दिलाने को कहा था। दोस्ती के नाते दिलीप तैयार हो गया। उनके साथ चला गया। कार में जाने से पहले दिलीप व उसके दोस्तों को सलाह दी थी रात को नींद आने लगे तो किसी ढाबे पर गाड़ी खड़ी करके सो जाना। सुबह 9 बजे करीब हादसे की सूचना मिली। उसकी 3 साल की बेटी है। दादी व मां का रो-रो कर बुरा हाल है। देवउठनी एकादशी पर छोटे भाई की शादी तय हुई थी।

परिवार में मातम पसरा है
परिवार में मातम पसरा है

माता-पिता से आशीर्वाद लेकर निकला था सत्यनारायण
गोवर्धनपुर के ही मृतक सत्यनारायण के छोटे भाई मनोज बैरवा ने बताया कि 5 भाई-बहनों में सत्यनारायण सबसे बड़ा था। वो बीएड सेकंड ईयर की पढ़ाई कर रहा था। पहली बार REET दे रहा था। वो बहुत खुश था। जाने से पहले उसने माता-पिता के पैर छूकर आशीर्वाद मांगा। कहा कि अच्छे नम्बरों से पास होने का आशीर्वाद दो। इसके बाद रात 8 बजे वो अपने दोस्तों के साथ सीकर के लिए रवाना हुआ। सुबह हादसे की खबर लगी।

गोवर्धनपुर निवासी सुरेश (30) पुत्र रामगोपाल बैरवा के डेढ़ साल की बेटी है, वहीं उसके सात भाई-बहन हैं। माता-पिता सहित सभी का रो-रोकर बुरा हाल है। सत्यनारायण व सुरेश चचेरे भाई थे, वहीं घायल अनिल पुत्र जानकीलाल बैरवा (30) भी इनके परिवार का है। इन परिवारों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। परिजन को परीक्षा से ही उम्मीद थी, लेकिन पेपर से पहले हृदय विदारक हादसे ने उनके सपने भी छीन लिए।

पंचायत सहायक था तेजराज, मौत से दो बेटियों के सिर से उठा पिता का साया
कासमपुरा निवासी तेजराज उर्फ राजेंद्र मेघवाल (30) पुत्र रघुनाथ बरलां में पंचायत सहायक के रूप में कार्य करता था। इसके 10 व 8 साल की दो लड़कियां हैं। उसकी पत्नी सुनीता मेघवाल का कोटा के लाड़पुरा में मायका है। वह भी REET देने गई हुई थी। पति की हादसे में मौत से स्तब्ध है।

बमोरीघाटा के विष्णु नागर की मौत से गांव में पसरा मातम, पिता करते हैं खेती
बमोरीघाटा निवासी विष्णु नागर (26) पुत्र हरिवल्लभ नागर दो भाई-बहन हैं। इनके पिता खेतीबाड़ी करते हैं। विष्णु ने कोटा रहकर भी REET के लिए तैयारी की थी। इसके बाद से गांव में रहकर तैयारी में जुटा था। हादसे से गांव में मातम पसरा हुआ है।

इन 6 लोगों की मौत हुई

  • विष्णु नागर, निवासी बमोरीघाटा, बारां
  • तेजराज उर्फ राजेंद्र मेघवाल, निवासी कासमपुरा अटरू बारां
  • सत्यनारायण, निवासी गोवर्धनपुर सालपुरा बारां
  • वेद प्रकाश, निवासी हनुमंत खेरी गुजरान
  • सुरेश, निवासी गोवर्धनपुर कवाई सालपुरा
  • दिलीप मेहता, निवासी गोवर्धनपुर कवाई सालपुरा

ये जख्मी हुए

  • नरेंद्र, निवासी छबड़ा बारां
  • अनिल, निवासी गोरधनपुरा कवाई सालपुरा बारां
  • भगवान नगर, निवासी बारां
  • हेमराज बैरवा, निवासी हनुमंत खेर मुसी गुजरान बारां
  • जोरावर सिंह पुत्र राम प्रताप, निवासी बारां (इनकी हालत गंभीर है)

ड्राइवर को झपकी आते ही ट्रक में फंसी वैन:नींद आने से हादसे के 30 मिनट पहले ढाबे पर पी थी चाय, 2 किमी तक घसीटता रहा ट्रक, घायल बोले: आंख खुली तो अस्पताल में थे

जयपुर में भीषण सड़क हादसा:ट्रक और वैन की भिड़ंत में 6 की मौत, इनमें से 5 बारां से सीकर रीट की परीक्षा देने जा रहे थे

फोटो-धनराज पोटर, कवाई

खबरें और भी हैं...