पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सोगरिया में ठहराव होने के बाद कोटा नहीं आएगी ट्रेनें:सोगरिया रेलवे स्टेशन पर शीघ्र शुरू होगा ट्रेनों का ठहराव, क्विक वाटरिंग सिस्टम लगाया

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सोगरिया रेलवे स्टेशन का विकास कार्य अंतिम चरणों में है। गुना एवं रुठियाई की तरफ जाने वाली ट्रेनों का ऐसे स्टेशन पर ठहराव शीघ्र ही शुरू होगा। रेलवे ने अब इस स्टेशन पर क्विक वाटरिंग सिस्टम लगा दिया है। इस नई व्यवस्था से 24 कोच की ट्रेन में 4 से 5 मिनट में पानी भर दिया जाएगा। बाद में इसी स्टेशन से ट्रेन सवाई माधोपुर, जयपुर, अजमेर, चित्तौड़गढ़ के लिए रवाना होंगी। ट्रेनों को कोटा लाने की जरूरत नहीं होगी।

सीनियर डीसीएम अजय कुमार पाल ने बताया कि इंजीनियरिंग विभाग की टीम द्वारा ढाई लाख लीटर क्षमता की आरसीसी से निर्मित ओवरहेड टैंक का निर्माण किया गया है। साथ ही 2 बोरवेल भी बनाए गए हैं। लगभग 6 इंच व्यास का और 590 मीटर लंबाई का वाटर हाइड्रेंट लगाया गया है।

इसके अलावा लाइन नंबर 1 और 2 के बीच पानी की निकासी के लिए पक्का ड्रेनेज सिस्टम भी बनाया गया है। आने वाले दिनों में सोगरिया स्टेशन पर जबलपुर से अजमेर और अजमेर से जबलपुर, भोपाल-जोधपुर और जोधपुर-भोपाल, भागलपुर-अजमेर एवं अजमेर5भागलपुर के अलावा कोलकाता-अजमेर, संतरागाछी-अजमेर ट्रेनों का ठहराव शुरू होगा।

इन रेलगाड़ियों में पानी भरने के लिए क्विक वाटरिंग सिस्टम लगाया गया है। इससे ट्रेनों को कोटा तक लाने की जरूरत नहीं रहेगी और इंजन के रिवर्सल में लगने वाले आधा घंटा समय की बचत होगी। आने वाले दिनों में क्रू चेंजिंग पॉइंट भी सोगरिया स्टेशन को ही बना दिया जाएगा, जिससे यात्री गाड़ियों के समय की बचत होगी।

खबरें और भी हैं...