• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Students Will Get Tickets For Rs 20, Children Up To 5 Years And Disabled Will Get Free Entry, Visitors Will Also Get Cycles And Golf Carts.

इसी हफ्ते खुलेगा प्रदेश का सबसे बड़ा अभेड़ा बायाेलाॅजिकल पार्क:स्टूडेंट्स को 20 रुपए में मिलेगा टिकट, 5 साल तक के बच्चों और दिव्यांगों को फ्री एंट्री, विजिटर्स को साइकिल व गाेल्फ काॅर्ट की भी

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अभेड़ा बायाेलाॅजिकल पार्क। - Dainik Bhaskar
अभेड़ा बायाेलाॅजिकल पार्क।

प्रदेश के सबसे बड़े अभेड़ा बायाेलाॅजिकल पार्क का उद्घाटन इसी हफ्ते हाेगा। मुख्यमंत्री अशाेक गहलाेत 17 या 18 दिसंबर काे 126 हैक्टेयर में बने बायाेलाॅजिकल पार्क का लाेकार्पण करेंगे। अभेड़ा में इंडियन विजिटर्स के लिए 50 रुपए का टिकट लगेगा। स्टूडेंट्स के लिए 20 रुपए का टिकट रहेगा। विजिटर्स काे किराए पर साइकिल और गाेल्फ काॅर्ट की सुविधा भी मिलेगी। एसीएफ अनुराग भारद्वाज ने बताया कि पार्क का लाेकार्पण सीएम अशाेक गहलाेत और वन मंत्री हेमाराम चाैधरी की उपस्थिति में हाेगा। पार्क में असम से भालू का जाेड़ा, उदयपुर से शेर, जयपुर से बाघिन और शेरनी काे शिफ्ट किया जाएगा।

आमजन के लिए 50 रुपए हाेगी एंट्री फीस

विदेशी विजिटिर के लिए 300 का टिकट रहेगा। 5 साल से कम उम्र के बच्चाें और दिव्यांगों की निशुल्क एंट्री रहेगी। भारतीय नागरिकाें काे 200 और विदेशियाें काे 400 रुपए कैमरा चार्ज देना हाेगा। वीडियाे कैमरा चार्ज इंडियन के लिए 500 और विदेशी के लिए 1000 हजार हाेगा। डाॅक्यूमेंट्री के लिए भारतीय कंपनी काे 1 हजार रुपए और विदेशी काे 2 हजार रुपए शुल्क देना हाेगा। इंडियन फीचर फिल्म के लिए 5 हजार और विदेशी के लिए 10 हजार रुपए चार्ज लगेगा। इसके अलावा बस की पार्किंग का चार्ज 500, जिप्सी, जीप, कार, मिनी बस, कैंटर का 300 रुपए और दाेपहिया वाहन का 30, ऑटाे रिक्शा का 60 रुपए हाेगा।

अभेड़ा बायाेलाॅजिकल पार्क के लाेकार्पण की तैयारियां चल रही हैं। सीएमओ से 17 या 18 दिसंबर की तारीख प्रस्तावित है। यहां अन्य चिड़ियाघराें से भी वन्यजीवाें काे लाने के प्रयास हाेंगे। -सेडूराम यादव, सीएफ वन्यजीव व फील्ड डायरेक्टर, मुकंदरा रिजर्व

अभेड़ा बायाेलाॅजिकल पार्क शुरू हाेने से लाेगाें में वन्यजीव और प्रकृति संरक्षण के प्रति लाेगाें की जागरूकता विकसित हाेगी। यहां भालू सहित अन्य प्रजातियाें के वन्यजीवाें काे लाने के प्रयास हाेंगे। -डाॅ. डीएन पांडेय, प्रधान मुख्य वन संरक्षक, जयपुर

खबरें और भी हैं...