पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राजस्थान:प्रशासन ने नहीं की व्यवस्था, जेवर गिरवी रख और रुपए उधार लेकर बसों से गए प. बंगाल के कारीगर

कोटा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला प्रशासन से कई बार गुहार लगाई, लेकिन काेई मदद नहीं मिली

स्वर्ण रजत मार्केट में सोने की डिजाइन कड़ाई करने वाले कारीगर पश्चिम बंगाल लाैटने के लिए व्यापारियाें से रुपए उधार लिए और कुछ ने अपनी पत्नी के जेवर गिरवी रखे। तब जाकर 200 लाेगाें ने बसें की और अपने घर रवाना हुए। वहीं, उत्तरप्रदेश के जौनपुर जिले से कोटा आकर राेजगार कर रहे 5 परिवाराें के 18 लाेग जब सरकारी व्यवस्था के तहत अपने घर नहीं लाैट पाए ताे उधार में बस लेकर अपने गांव के लिए रवाना हुए। उन्हाेंने 22 हजार रुपए में बस की, पूर्व पार्षद विनाेद नायक ने 7 हजार रुपए एडवांस दिए, साथ ही उनकी गारंटी पर बाकी रकम उधार रखी गई कि गांव पहुंचकर ड्राइवर काे दे दी जाएगी। तब जाकर गुरुवार रात काे रवाना हाे सके।
काेटा में साेने की कारीगरी करने वाले अधिकांश कारीगर पश्चिम बंगाल के हैं। पिछले दाे माह से लाॅकडाउन और बाजार बंद हाेने से राेजगार बंद हाे गया। कई बार वापस अपने गांव लाैटने के लिए इन लाेगाें ने व्यावारियाें से लेकर जिला प्रशासन तक से गुहार लगाई, लेकिन काेई मदद नहीं मिली ताे सभी ने अपनी जमा पूंजी इकट्ठी की। जिनके पास पैसा नहीं था उन्हाेंने अपने व्यापारियाें से उधार लिया। जिन्हें उधार नहीं मिला उन्हाेंने पत्नी के जेवर गिरवी रखें। तब जाकर 7 बसाें का किराया इकट्ठा हुआ और 200 लाेग पश्चिम बंगाल के लिए रवाना हाे सके।
बस उधार कर ले गए जौनपुर के लोग
जाैनपुर जिले के मूल निवासी मुन्नालाल, सूरज, काैशल कुमार, राहुल साेनकर, विकास गुप्ता अपने परिवाराें के साथ राेजगार के लिए काेटा आए थे। परिवाराें के ये 18 लाेगाें केशवपुरा क्षेत्र में किराए से रह रहे थे और काेचिंग क्षेत्र में जूस का ठेला लगाते थे। लाॅकडाउन हाेने से सबकुछ बंद हाे गया। जमा पूंजी थी उससे कुछ दिनाें तक बच्चाें का पेट भर दिया। दैनिक भास्कर से राशन किट मिली उससे काम चल गया। अब जब ट्रेन चली ताे वापस घर लाैटने की उम्मीद जगी, लेकिन व्यवस्था नहीं हाे पाई।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें