पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शुरू हुआ जीर्णोद्धार का कार्य:जयपुर-उदयपुर की तर्ज पर संवारे जा रहे कोटा के रियासतकालीन दरवाजे

कोटा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सूरजपोल गेट का होने लगा जीर्णोद्धार। - Dainik Bhaskar
सूरजपोल गेट का होने लगा जीर्णोद्धार।
  • 11 करोड़ होंगे खर्च, 9 माह में काम पूरा करने का टारगेट

कभी शहर की शान और पहचान माने जाने वाले ऐतिहासिक दरवाजाें काे अब जयपुर और उदयपुर की तर्ज पर संवारा जाएगा। सूरजपाेल दरवाजे से इसकी शुरुआत हाे चुकी है। शहर के 6 दरवाजाें पर स्मार्ट सिटी और यूआईटी 11 कराेड़ रुपए खर्च कर रहा है। अगले 9 माह में इन सभी दरवाजाें का जीर्णाेद्धार करने का टारगेट रखा गया है। शहर के इन दरवाजाें का करीब 10 साल पहले भी एक बार यूआईटी द्वारा रंगराेगन और मरम्मत का कार्य करवाया गया था।

उसके बाद इन पर ध्यान नहीं देने के कारण इनकी दशा बिगड़ती चली गई। इन दिनाें जब शहर में हर तरफ कार्य चल रहे हैं और पर्यटन काे बढ़ावा देने के लिए नए पर्यटन स्थल विकसित किए जा रहे हैं ताे ऐसे में इन ऐतिहासिक धराेहराें काे भी संवारने की मांग उठी थी। इस पर स्मार्ट सिटी व यूआईटी ने इनकी वैभवता वापस लाैटाने के लिए प्राेजेक्ट तैयार किया।

इसके तहत किशाेरपुरा व सूरजपाेल के दरवाजाें का कार्य स्मार्ट सिटी प्राेजेक्ट से किया जाएगा, जिस पर 7 कराेड़ रुपए खर्च हाेंगे। वहीं पाटनपाेल व लाड़पुरा के दरवाजाें का जीर्णाेद्धार यूआईटी द्वारा करवाया जाएगा, जिन पर 4 कराेड़ रुपए खर्च हाेंगे। सूरजपाेल दरवाजे से इसकी शुरूआत की जा चुकी है। अभी उसका पुराना प्लास्टर हटाया जा रहा है, उसके बाद जिस तरह से जयपुर व उदयपुर में दरवाजाें काे माैलिक रूप से सुधारकर संरक्षित किया गया, उसी के अनुरूप यहां भी किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...