लापरवाही / प्रदर्शन करने का यह सही तरीका नहीं है, क्योंकि इससे फैल सकता है संक्रमण

X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 08:33 AM IST

कोटा. पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में हाड़ौती विकास मोर्चा ने मंगलवार को स्टेशन पहुंचकर ट्रेन रोकने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस और आरपीएफ ने उन्हें डीआरएम ऑफिस के आगे ही राेक दिया, प्लेटफार्म तक जाने नहीं दिया। इस दाैरान साेशल डिस्टेंसिंग का काेई ध्यान नहीं रखा गया। दूर-दूर खड़ा रहना दूर की बात, भीतर घुसने के लिए धक्का-मुक्की पर उतर तक हुई। कार्यकर्ताओं ने वहीं नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। बेरिकेडिंग पार करने की काेशिश की ताे पुलिस ने माेर्चा के संभागीय अध्यक्ष राजेंद्र सांखला सहित कार्यकर्ताओं काे हिरासत में ले लिया और वापस वहीं ले जाकर छाेड़ दिया जहां से रवाना हुए थे।

मोर्चा के कार्यकर्ता नटराज सिनेमा के बाहर एकत्रित हुए। वहां से रैली के रूप में यहां से यह कार्यकर्ता अलग-अलग रैली के रूप में रेल रोकने के लिए स्टेशन की तरफ गए। पुलिस और आरपीएफ ने डीआरएम आफिस से आगे ही बेरिकेडिंग का जाब्ता तैनात कर रखा था। कार्यकर्ताओं ने बेरिकेडिंग पार करने की काेशिश की ताे दाेनाें पक्षाें में बहस और धक्का-मुक्की हाे गर्ई। सांखला व कार्यकर्ता नहीं माने ताे पुलिस ने सांकेतिक गिरफ्तारी कर उन्हें 3 बसाें में बैठाया और वापस नटराज टाकीज के बाहर छाेड़ दिया।

बाइक पेड़ पर लटकाकर प्रदर्शन किया

कांग्रेस सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष एडवोकेट मनीष गुर्जर के नेतृत्व में सुभाष सर्किल पर हाथों तख्तियां लेकर रैली निकाली गई। प्रदर्शन में उपाध्यक्ष सौरभ विजय, गिरिराज पोसवाल, हर्ष शर्मा, धीरेन्द्र शर्मा, सिदार्थ तिवारी, अखिलेश शर्मा, विक्की शर्मा, राज मेहता, सोहन सिंह अादि शामिल थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना