24 घंटे में 5 सुसाइड:युवक, बुजुर्ग समेत तीन जनों ने ट्रेन से कटकर दी जान, दो ने जहर खाया

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • दो सुसाइड की वजह बना शराब का नशा, तीन में कारण स्पष्ट नहीं
  • दो लोगों ने घर पर ही जहर खाकर मौत को गले लगा लिया

कोटा शहर में पिछले 24 घंटे में सुसाइड के पांच मामले सामने आए हैं। युवक, बुजुर्ग समेत तीन जनों ने ट्रेन से कटकर जान दे दी, जबकि दो लोगों ने घर पर ही जहर खाकर मौत को गले लगा लिया। दो सुसाइड की वजह शराब का अत्यधिक सेवन करना सामने आया है। वहीं, तीन मामलों में सुसाइड के कारण स्पष्ट नहीं हुए हैं। किसी भी मामले में मृतक के पास सुसाइड नोट नहीं मिलने से पुलिस क्लियर कुछ नहीं कह पा रही है। पुलिस ने मामलों की जांच शुरू कर दी है।

बर्थडे पार्टी से लौटा, ट्रेन से कटकर दे दी जान
बारां के बड़गांव निवासी युवक सोनू प्रजापत ने दाढ़देवी स्टेशन के पास ट्रेन से कटकर जान दे दी। रेलवे पटरी पर उसका क्षत-विक्षत हालत में शव मिला। सोनू कोटा के उद्योग नगर इलाके में किराए के मकान में रहता था। मृतक का भाई मुकेश ने बताया कि सोनू देर रात को किसी जन्मदिन की पार्टी में शामिल हुआ था और उसके बाद से ही गायब था। हेड कांस्टेबल छोटूलाल ने बताया कि सुसाइड का फिलहाल कोई कारण सामने नहीं आया है और न उसके पास कोई सुसाइड नोट मिला है।

ट्रेन से कटकर युवक ने जान दी

अनंतपुरा पुलिस को मंगलवार को कोटा-बारां हाइवे के पास झालावाड़ रेलवे ट्रैक पर राहुल मेघवाल निवासी खटकड़ का शव मिला। वहीं मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान युवक बालूराम की मौत हो गई। बालूराम ने अज्ञात जहर पी लिया था।

शराब के रुपए नहीं दिए तो पी गया फिनाइल

नशे के पैसे नहीं दिए तो फिनाइल पीकर जान दी

जवाहर नगर थाना क्षेत्र की दुर्गा बस्ती निवासी बुजुर्ग अनिल मंडल (60) ने 27 सितंबर को जहर खा लिया। जिससे उनकी तबीयत खराब हो गई, जिसे परिजन अस्पताल लेकर गए। जहां इलाज के दौरान मंगलवार को उनकी मौत हो गई। परिजन विश्वजीत का कहना है कि अनिल नशा करने के पैसे नहीं देने पर झगड़ा करते थे, नहीं देने पर फिनाइल पी लिया था, जिससे उनकी मौत हो गई। इधर, पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

नशे में ट्रेन के आगे जाकर बुजुर्ग ने किया सुसाइड नशे में सब्जी का ठेला लगाने वाले एक 72 वर्षीय बुजुर्ग रतनलाल ने ट्रेन की आगे जाकर सुसाइड कर लिया। वो बजरंग नगर में रहते थे। परिजन मुकेश ने बताया कि रतनलाल अक्सर नशे में रहते थे।

खबरें और भी हैं...