• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Went Out On Duty On The Evening Of Diwali, Collided With The Train While Crossing The Track In Nagda, 4 Sweepers Carried The Dead Body In The Sack Kota Rajasthan

गार्ड की ट्रेन से कटने से मौत:दिवाली की शाम को ड्यूटी पर निकले थे, ट्रेन से टकराए, 4 स्वीपर ने बोरे में समेटा शव

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हादसा इतना भीषण था कि 25 कदम तक शव के दुकड़े दुकड़े हो गए। - Dainik Bhaskar
हादसा इतना भीषण था कि 25 कदम तक शव के दुकड़े दुकड़े हो गए।

कोटा के एक गार्ड की नागदा स्टेशन पर दिवाली की रात ट्रेन से कटकर मौत हो गई। हादसा इतना भीषण था कि 25 कदम तक शव के दुकड़े दुकड़े हो गए। 4 स्वीपर को बुलवाकर शव को बोरे में रखवाया गया।गार्ड का शव शुक्रवार रात कोटा पहुंचा। आज गमगीन माहौल में शव का अंतिम संस्कार किया गया। पूनम कॉलोनी, दुर्गा नगर निवासी गार्ड राजेंद्र गोचर (48) गुरुवार शाम को मालगाड़ी लेकर ड्यूटी पर नागदा गए थे। राजेंद्र के एक बेटा और बेटी की अभी शादी नहीं हुई है। बेटा-बेटी के अलावा राजेंद्र अपनी मां और पत्नी के साथ रहते थे।

गार्ड राजेंद्र गोचर गुरुवार शाम को मालगाड़ी लेकर ड्यूटी पर नागदा गए थे।
गार्ड राजेंद्र गोचर गुरुवार शाम को मालगाड़ी लेकर ड्यूटी पर नागदा गए थे।

जानकारी के अनुसार गुरुवार ट्रेन रात करीब साढ़े 11 बजे मालगाड़ी नागदा स्टेशन पहुंची थी। ड्यूटी खत्म होने के बाद वो नागदा स्टेशन पर थे। इसी दौरान अज्ञात ट्रेन की चपेट में आ गए। ट्रेन से कई जगह से कटने पर राजेंद्र की मौके पर ही मौत हो गई।

जीआरपी नागदा चौकी प्रभारी जीपी चौधरी ने बताया कि पटरी पर शव पड़ा होने की सूचना सुबह करीब 7:15 बजे मिली। इसके बाद मौके पर पहुंचकर शत विक्षत शव को 4 स्वीपर ने बोरे में समेटा। ओर अस्पताल पहुंचाया।

सिम से हुई पहचान

हादसे में मृतक की जेब में रखा मोबाइल भी टूट चुका था। शव के पास एक सिम मिली। जांच पर पता चला ये विभाग की सिम है। मोबाइल में डालकर नम्बर चेक किए तो मृतक के बारे में पता चला। जिसके बाद साथी गार्डों ने राजेन्द्र की पहचान की। हादसे की जानकारी मिलने पर मृतक के साडू बेटा, व कुछ गार्ड मौके पर पहुंचे। पोस्टमार्टम के बाद शव को लेकर कोटा के लिए रवाना हुए।

बताया जा रहा है कि ड्यूटी का समय होने के कारण राजेंद्र लक्ष्मी पूजा भी नहीं कर सके थे। ट्रेन का समय होने के कारण राजेंद्र को लक्ष्मी पूजा से ठीक पहले घर से निकलना पड़ा। हालांकि की परिवार वाले चाहते थे कि राजेंद्र लक्ष्मी पूजा करके ड्यूटी पर जाएं।

खबरें और भी हैं...