पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • With The Help Of World Bank, CETA Government Will Start Short Term Courses In ITI, The Amount Of Rupees Will Be Approved.

नया प्रोजेक्ट:वर्ल्ड बैंक के सहयाेग से काेटा गवर्नमेंट आईटीआई में शुरू हाेंगे शाॅर्ट टर्म काेर्स, दाे कराेड़ रुपए स्वीकृत

काेटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • काेटा के अलावा सांगाेद और झालावाड़ आईटीआई भी योजना में शामिल, पांच साल का है प्रोजेक्ट

वर्ल्ड बैंक के सहयाेग से भारत सरकार के काैशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय द्वारा डीसीएम राेड स्थित गवर्नमेंट आईटीआई में स्टूडेंट्स के लिए जल्द शाॅर्ट टर्म काेर्स शुरू हाेंगे। स्वराेजगार के साथ प्लेसमेंट के लिए यह काेर्स उपयाेगी हाेंगे। इनकी अवधि कुल 300 घंटे हाेंगी। डायरेक्टर जनरल ऑफ ट्रेनिंग नई दिल्ली की ओर से इनकी गाइड लाइन भी मिल चुकी है। काेर्स के लिए काेटा आईटीआई के लिए दाे कराेड़ का बजट स्वीकृत हुआ है।

इसके अलावा संभाग में सांगाेद और झालावाड़ में भी इनकी स्वीकृति हाेने के साथ बजट प्राेसेस शुरू हाे चुकी है। सांगाेद के लिए डेढ़ कराेड़ और झालावाड़ के लिए एक कराेड़ 61 लाख रुपए का बजट स्वीकृत हाे चुका है। पहली किश्त के रूप में काेटा के लिए 40 प्रतिशत राशि की स्वीकृति भी जारी कर दी है। यानी 80 लाख रुपए और झालावाड़ के लिए 64 और सांगाेद के लिए 60 लाख रुपए की स्वीकृति जारी की हैं। अधिकारियाें का कहना है कि काेविड-19 की परिस्थितियाें के अनुसार इन शाॅर्ट टर्म काेर्स की प्राेसेस हाे सकेगी। इन काेर्स के लिए इंडस्ट्रीज पार्टनर भी हाेंगे। काेटा गवर्नमेंट आईटीआई के लिए डीसीएम श्रीराम लिमिटेड है।

वर्ल्ड बैंक के सहयाेग से भारत सरकार के काैशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय की ओर से गवर्नमेंट आईटीआई में जल्द ही शाॅर्ट टर्म काेर्स शुरू हाेंगे। पहली किश्त की स्वीकृति हाे चुकी हैं। गाइड लाइन के अनुसार यह काेर्स जल्द ही शुरू हाेंगे। -राजेश गुप्ता, प्रिंसिपल गवर्मेंट आईटीआई काेटा

300 घंटे के हाेंगे शाॅर्ट टर्म काेर्स
300 घंटे के शाॅर्ट टर्म काेर्स में स्वराेजगार से लेकर प्लेसमेंट वाले हाेंगे। इनमें साेलर पैनल इंस्टालेशन, सीसीटीवी इंस्टालेशन, स्मार्ट फाेन टेक्नीशियन, माेटर बाइंडिंग सहित अन्य काेर्स शामिल हाेंगे। शैक्षणिक याेग्यता 5 वीं से लेकर आठवीं और 10 वीं तक और गाइड लाइन के अनुसार हाेंगी। इन काेर्स की नेशनल स्कीम क्वालिटी फ्रेम वर्क के अनुसार पालना करनी हाेगी।

खबरें और भी हैं...