पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हादसा:लंगूरों में मारपीट की चपेट में आकर युवक हुआ लहूलुहान, बालिका बाल-बाल बची

सुकेत4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुकंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व के सीनियर वैटरनरी डॉक्टर ने ट्रेंक्युलाइज कर किया कंट्रोल

सुकेत कस्बे में शुक्रवार को लंगूरों की गैंगवार में बच्ची को बचाने में एक युवक गंभीर घायल हो गया। उसे सुकेत अस्पताल में भर्ती करवाया है। जानकारी के अनुसार शहबाज के घर के बाहर तीन लंगूर आपस में झगड़ने लगे। अचानक इनमें से एक गंभीर घायल लंगूर ने शहबाज पर हमला कर दिया।
कस्बे में वार्ड 1 में रहने वाले शहजाद पुत्र अब्दुल रजाक अपने कमरे में एक बेटी व बेटे के साथ सो रहा था। सुबह करीब 6:30 बजे घर के ऊपर बंदरों के कूदने की आवाज आई। 3 बंदर आपस मे लड़ रहे थे, वे लड़ते हुए घर के चौक में कूद गए। आवाज सुनकर शहजाद ने अपने कमरे का दरवाजा खोला तो एक बंदर दरवाजे के बाहर ही था। उसने शहजाद पर हमला कर दिया। पाव पर काट लिया, शहजाद घाव को देखने लगा। इतने में बंदर कमरे के अंदर आ गया और बच्चों को पकड़ने लगा। शहजाद ने बंदर को पकड़ना चाहा तो बंदर ने उसे फिर घायल कर दिया। शहजाद घायल अवस्था में कमरे के बाहर निकल गया। परिवार के अन्य लोगों के आने से बंदर कमरे में एक और घुस गया। इस पर शहजाद की भाभी ने बाहर से कमरे की कुंडी लगा दी। वरना बंदर दूसरों को नुकसान पहुंचा देता।
युवक के कमरे में चारों तरफ फैल गया खून 
शहजाद के बुरी तरह घायल होने से पूरे कमरे में व चौक में काफी खून फैल गया। सूचना मिलते ही वार्ड 1 में ही निवास करने वाले सुकेत सरपंच गोरधन मेहरा मौके पर पहुंचे। परिजनों के साथ शहजाद को सुकेत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाए। जहां उसका प्राथमिक उपचार किया गया और रेबीज का इंजेक्शन भी लगाया गया।
सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची 
बंदर के कमरे में बंद होने की सूचना पुलिस विभाग को व मोडक रेंज के फारेस्ट ऑफिसर को दी। मौके पर फॉरेस्ट रेंजर नवनीत शर्मा अपनी टीम के साथ पहुंचे। स्थिति का जायजा लेने पर बंदर को कमरे से बाहर निकालकर पकड़ना मुश्किल दिख रहा था। उस पर शर्मा ने कोटा फारेस्ट आफिस में सूचना कर बंदर को ट्रेंक्युलाइज करने के लिए टीम बुलवाई। करीब दोपहर 1 बजे टीम मौके पर पहुंची। बंदर को ट्रेंक्युलाइज कर पकड़ा गया, उसे कोटा चिड़ियाघर में रखा है, जहां उपचार के बाद उसे जंगल में छोड़ा जाएगा। सरपंच ने शहजाद को सामग्री पहुंचाने का वादा किया है। 
7 फीट दूर से किया बंदर को ट्रेंकुलाइज 
सीनियर वैटरनरी डॉ. तेजेंद्र सिंह रियाड़ को मौके पर भेजा। डॉ. रियाड़ ने 7 फीट की दूरी से जंगले से गनशॉट से बंदर को ट्रेंकुलाइज किया। इसके बाद रिवाइवल देकर होश आने के बाद तत्काल कोटा चिड़ियाघर लेकर आए। लंगूर की हालत में सुधार है। वहीं, दूसरी ओर सुकेत निवासी शहबाज का अस्पताल में इलाज जारी है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें