सरकारी स्कूल की तस्वीर बदलने में जुटे भामाशाह:सेवानिवृत्त व्याख्याता बैंदा ने साढ़े 5 लाख रु. की लागत से बनवाया स्कूल का मुख्य द्वार

डेगाना18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चुई के राजकीय स्कूल का बनाया गया मुख्य द्वार। - Dainik Bhaskar
चुई के राजकीय स्कूल का बनाया गया मुख्य द्वार।

चुई की राजकीय उमावि का पिछले दो सालों से ग्रामीण लोगों की सहायता से निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिसमें सेवानिवृत्त व्याख्याता हरिसिंह बैंदा के द्वारा साढ़े पांच लाख रु. की लागत से चुई गांव में संचालित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के मुख्य द्वार का निर्माण करवाया गया।

सेवानिवृत्त व्याख्याता हरिसिंह बैंदा ने बताया कि गांव के बच्चों को अच्छी शिक्षा के लिए पिछले कुछ वर्षों से जर्जर भवन की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था जिसकों को लेकर भामाशाह पूर्व सरपंच मंगाराम बैंदा के द्वारा स्कूल निर्माण के लिए 5 बीघा जमीन दान की गई थी। उस जमीन पर विद्यालय निर्माण के लिए गांव के भामाशाह आगे आए है।

उसी प्रेरणा को देखते हुए स्कूल के मुख्य द्वार का निर्माण बैंदा परिवार के द्वारा करवाया गया है। पूर्व सरपंच मंगाराम बैंदा ने कहा कि शिक्षा ही मनुष्य जीवन का मूल आधार है। प्रधानाचार्य राजू राम ढाका ने बताया कि गांव की सरकारी स्कूल होते हुए भी ग्रामीणों के सहयोग से डेगाना तहसील की सबसे बड़ी स्कूल का निर्माण किया है जिससे गांव सहित अन्य आसपास के बच्चों को अच्छी शिक्षा प्राप्त होगी।

खबरें और भी हैं...