समिति द्वारा मंडी शुल्क वसूल नहीं किया जाएगा:खुले आसमान के नीचे पड़ी करोड़ों की पान मैथी, ऊपर बादलों का डेरा, खरीद बन्द होने से परेशान थे किसान

खजवानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मैथी पत्ता सुखा साग एसोसिएशन नागौर 13 दिसंबर को कृषि मंडी सचिव और मैथी पत्ता सुखा साग एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के बीच निर्णय लिया गया है। मैथी पत्ता सुखा साग एसोसिएशन के अध्यक्ष रामस्वरूप चांडक ने बताया कि मैथी पत्ता खरीद पर मंडी समिति द्वारा मंडी शुल्क वसूल नही किया जाएगा। नागौर में मैथी पत्ता मंडी विकसित करने के लिए आवश्यक करवाई की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

नागौर में मैथी पत्ता की मंडी बनने तक नागौर में मैथी पत्ता का व्यापार पूर्व की भांति ही सुचारू रूप से चलता रहेगा। सभी निर्णय के बाद व्यापार मंडल ने कल से 14 दिसंबर को मैथी पत्ता की खरीद पुनः शुरू करने की सहमति दी। इस पर किसानों ने खुशी जताई।

बादल छाने से किसानों को सताने लगा था डर
किसानों ने रात दिन एक करके मैथी की खेती की थी और पिछले कुछ दिनों से पान मैथी की खरीद नहीं होने से किसान परेशान थे। इसको लेकर व्यापारियों के साथ बैठक करने के साथ ही जनप्रतिनिधियों से भी मैथी खरीद की मांग की थी। वहीं नागौर व मूंडवा में से अभी तक मंडी को लेकर कोई स्थाई निवारण नहीं हुआ है। व्यापारियों ने मंडी शुल्क कटने के कारण खरीद बंद कर दी थी जिस कारण से किसानों की परेशानी और बढ़ गई थी।

उल्लेखनीय है कि खजवाना क्षेत्र के ढाढरिया कला, ढाढरिया खुर्द, खजवाना, देशवाल, जनाणा, इंदोकली, रूण, छिलरा, निंबड़ी सहित कई गांवों में मैथी की बंपर बुवाई की गई है। किसान कैलाश, रामपाल, राजूराम, संजय लोमरोड़, अर्जुन, छोटूराम, जितेंद्र लोमरोड़, कमलेश मुंडेल ने बताया कि खरीद शुरू करने की कलेक्टर से मांग की थी। वहीं खरीद पर शुल्क नहीं लिए जाने पर किसानों ने खुशी जताई।

खबरें और भी हैं...