रंजिश के चलते युवक की हत्या:3 साल पहले शादी में हुआ था झगड़ा, बदला लेने को दोस्तों ने युवक को कुल्हाड़ी से काटा, ट्रैक्टर चढ़ाकर मार डाला

खींवसर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खींवसर. खींवसर अस्पताल में मोर्चरी के बाहर प्रदर्शन करते परिजन। - Dainik Bhaskar
खींवसर. खींवसर अस्पताल में मोर्चरी के बाहर प्रदर्शन करते परिजन।

भावण्डा थाना क्षेत्र के कंकड़ाय में गुरुवार शाम को करीब साढे पांच बजे दीपावली के दिन पुरानी रंजिश के चलते एक युवक की हत्या कर दी गई। मृतक के भाई गौतम खुड़खुड़िया ने बताया कि प्रकाश खुड़खुडिया आसाेप से घर आ रहा था। इस दौरान पुरानी रंजिश के चलते रास्ते में पहले से घात लगाकर बैठे जितेंद्र, मदनलाल, उगराराम, मनीष, सियाराम और गौतम के अलावा 2-3 अन्य ने प्रकाश पर हमला कर दिया, जिससे प्रकाश घायल होकर नीचे गिर गया।

इस बाद आरोपियों ने प्रकाश को कुल्हाड़ी, लाठी, हॉकी व सरियों से मारपीट की। मृतक की तब तक सांसे चल रही थी उसके बाद आरोपियों ने उस पर ट्रेक्टर चढ़ा दिया, जिस कारण से प्रकाश की मौके पर ही मौत हो गई। तीन साल पहले भी विवाद हुआ था।उसके बाद लोगों के इकट्ठा होने पर वह सभी वहां से फरार हो गए। मृतक के भाई ने बताया कि आरोपियों के साथ पूर्व में भी लड़ाई हो चुकी है। पुरानी रंजिश के चलते हमने आरोपी मदनराम, जितेंद्र और उनके पूरे परिवार को पाबंद भी करवाया था।

इनका पूरा परिवार कुछ माह पहले जान से मारने की नीयत से मेरे भाई के पीछे तलवार लेकर भागे थे। लेकिन उस टाइम उसने भाग कर जान बचा ली थी। जानकारी पर भावण्डा पुलिस मौके पर पहुंची और शव को खींवसर सीएचसी की मोर्चरी में रखवाया। खबर लिखे जाने तक पुलिस द्वारा छह लोगों को गिरफ्तार करने की सूचना है मगर पुलिस इस मामले में केवल जांच करने का बोल रही है।गांव के युवकों ने बताया कि जितेंद्र स्टूडियों का काम करता है और प्रकाश उसके साथ शूटिंग पर जाता था तथा गहरे मित्र थे।

करीब तीन साल पहले यह दोस्त शादी समारोह में तीसरे दोस्ते की किसी बात को लेकर आपस में झगड़ लिए। इस बाद मामला रंजिश में बदला और 3 साल में कई बार इनके बीच झगड़ा हुआ। वहीं बार-बार मामला बढ़ता गया। फिर आरोपियों ने दीपावली के दिन प्रकाश को मारने की योजना बनाई।

इसके लिए आसोप से लेकर कंकड़ाय गांव के गुवाड़ तक प्लानिंग के अनुसार प्रकाश की हत्या के लिए जाल बिछाया गया। जैसे ही प्रकाश गांव पहुंचा तो हमला कर दिया गया। जानकारी अनुसार मृतक और आरोपियों के बीच लम्बे समय से विवाद चल रहा था। इन दोनों पक्षाें के बीच पहले भी लड़ाई हो चुकी थी तथा मृतक ने आरोपियों में से एक युवक के पिता के पैर भी तोड़ दिए थे। क्षेत्र में मर्डर के बाद मामले को लेकर चर्चा रही।

परिजनों ने शव लेने से किया इनकार, विरोध जताया, पुलिस छह जनों को पकड़ थाने लाई

परिजनाें ने खींवसर माेर्चरी के बाहार आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर प्रर्दशन किया। गुरुवार रात में ही परिजन और ग्रामीण खींवसर सीएचसी के सामने इक्कठा होना शुरू हो गए तथा आरोपियों के गिरफ्तारी की मांग की। वहीं पुलिस ने बताया कि प्रकाश शाम के समय खेत जा रहा था। इस दौरान जितेंद्र, मदनलाल, उगराराम, मनीष, सियाराम और गौतम के अलावा 2-3 अन्य ने प्रकाश राम पर हमला कर दिया तथा ट्रेक्टर चढ़ा दिया, जिससे वो गंभीर घायल हो गया।

इस बाद मौत हो गई। मामले में पुलिस ने 6 आरोपियों को राउंडअप कर लिया है, वहीं अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। इसके बाद देर रात से शुक्रवार दोपहर तक खींवसर हॉस्पिटल की मोर्चरी के बाहर धरने पर बैठे परिजनों ने पुलिस अधिकारियों को पोस्टमार्टम की सहमति दी और शव लेने को तैयार हुए। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार के लिए शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया है। खबर लिखे जाने तक पुलिस ने नामजद आरोपियों को पकड़कर लाने के बाद व घटना के 48 घंटे बाद भी गिरफ्तारी नहीं दिखाई। जिस कारण से कार्रवाई को लेकर भी ग्रामीणों ने विरोध जताया।

खबरें और भी हैं...