पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मीटिंग:खींवसर में मृत्यु भोज रोकथाम को लेकर हुई बैठक

खींवसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सामाजिक संगठनों व जनप्रतिनिधियों ने जताई सरकार के सहयोग में सहमति

खींवसर पंचायत समिति सभाकक्ष में रविवार को उपखंड अधिकारी राजकेश मीणा की अध्यक्षता में मृत्यु भोज की रोकथाम के लिए बैठक आयोजित की गई। राजस्थान सरकार व जिला कलक्टर नागौर के निर्देशानुसार मृत्यु भोज की रोकथाम के लिए जनप्रतिनिधियों व गणमान्य व्यक्तियों की बैठक बुलाई गई। इस बैठक की अध्यक्षता एसडीएम मीणा ने की है।

मीणा ने बताया कि कलेक्टर के निर्देशानुसार व राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी आदेशों की पालना के लिए पंचायत समिति सभाकक्ष में अनेक सामाजिक संगठनों व संस्थाओं के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष एवं सरपंचों सहित जनप्रतिनिधि उपस्थित हुए। इन लोगों के साथ मृत्यु भोज रोकथाम व मृत्यु भोज पूर्णतया बन्द हो इस सम्बन्ध एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें विभिन्न समाजों से ज्यादा से ज्यादा मौजीज व्यक्तियों व प्रतिनिधियों ने भाग लिया। मृत्यु भोज जैसी इस गंभीर कुरीति को जड़ से कैसे खत्म किया जा सके। इस पर सभी ने अपने अपने विचार व्यक्त किए तथा सभी ने एक-एक संकल्प पत्र भरकर वचन लिया कि हम ना तो मृत्युभोज का आयोजन करेंगे और ना ही अपने समाज में मृत्यु भोज का आयोजन होने देंगे।

साथ ही समाज के सभी प्रतिनिधियों ने अपने अपने सुझाव देते हुए अवगत कराया जो भी व्यक्ति मृत्यु भोज करने में सहयोग करता है जैसे हलवाई, टेंट, किराना स्टोर, प्रिंटिंग प्रेस इत्यादि पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इस मौके पर विकास अधिकारी वेद प्रकाश शर्मा सहित विभिन्न ग्राम पंचायतों के सरपंचों के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि व विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी मौजूद रहे।

बैठक में विकास अधिकारी वेदप्रकाश शर्मा, पूर्व पंचायत समिति सदस्य रोशन उपाध्याय, सरपंच प्रतिनिधि चंपालाल देवड़ा, पूर्व उप सरपंच नरेश भाटी, पूर्व मंडल अध्यक्ष उमेदसिंह सिंह राठौड़, लालाराम तरड़, अब्दुल जब्बार कुरेशी, दोलत सिंह आदि उपस्थित हुए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें