पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टांकला टोल नाके पर प्रदर्शन:रालोपा कार्यकर्ताओं ने बंद कर करवाया टोल, पिछले 7 महीने से टांकला टोल नाका पूर्ण रूप से था बंद

खींवसर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

टांकला टोल नाके पर रालोपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन करके फिर से टोल बंद करवाया। मगलवार को टोल शुरू होने की सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में रालोपा कार्यकर्ता टोल नाके पर पहुंचे तथा विरोध-प्रदर्शन किया। करीब एक घंटे तक प्रदर्शन करने के बाद टोल बंद हुआ। खींवसर उप प्रधान रामसिंह बगड़िया ने बताया कि देश में किसान आंदोलन के चलते टोल शुरू नहीं किया जाएगा।

जब तक किसानों के समझौता नहीं हो जाता तब तक पूर्ण रूप से टोल बंद रहेगा। सुरेंद्र भाकल ने बताया कि काले कृषि बिल वापस लेने की मांग को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के जिलाध्यक्ष हनुमान भाकर ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार तीन काले कृषि बिल वापस नहीं लेगी तब तक किसान पीछे हटने वाला नहीं है।

वहीं दूसरी ओर पिछले 7 महीने से टांकला टोल नाक पूर्ण रूप से बंद था। लेकिन बुधवार को टोल संचालकों ने एनएचआई के निर्देश पर शुरू कर दिया। जिसकी खबर लगते ही बड़ी संख्या में रालोपा के कार्यकर्ता टोल पर एकत्रित हो गए। कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन के बाद थानाधिकारी गोपाल कृष्ण मय जाब्ता मौके पर पहुंचे। वहीं नागौर डिप्टी विनोद कुमार सीपा मौके पर पहुंचे।

नागौर डिप्टी व प्रतिमंडल के बीच वार्ता हुई, जिसके बाद टोल बंद हुआ। वहीं पुलिस प्रशासन को कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन के चलते टोल बंद करना पड़ा। इस दौरान श्रवण महेरा, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष सुरेंद्र दौतड़, ढींगसरा सरपंच पदमाराम सारण, श्रवण सियाग, भारतीय किसान युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष सहदेव कस्वां, पंचायत समिति सदस्य अजय सियाग, ओमाराम, वासुदेव बान्ता, ओमप्रकाश बिश्नोई मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...