जिले में अब तक 793 केस:कुचामन में जिस गर्भवती की कोरोना से मौत हुई उसका सब्जी विक्रेता पति भी संक्रमित, अब संपर्क हिस्ट्री जुटाना मुश्किल

कुचामनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाडनूं में 14, कुचामन में 6, नावां में 2 कोरोना संक्रमित मामले सामने आए, लाडनूं से 3 नागौर रेफर
  • नावां सिटी में एक मजदूर व सुपरवाइजर के पॉजिटिव आने के बाद एक रिफाइनरी को कराया गया बंद

कुचामन शहर में अब कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। शहर में रविवार को कोरोना पॉजिटिव से जिस गर्भवती महिला की मौत हुई थी मंगलवार को उसी महिला का पति, देवर व एक पड़ोसी सहित कुल 6 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए है। चिकित्सा अधिकारी डॉ. शकील मोहम्मद राव ने बताया कि 6 पॉजिटिव केस में 3 मामले व्यापारी मोहल्ले के है, वही एक केस पलटन गेट क्षेत्र, एक खान मोहल्ला व एक मिर्धा नगर का है।

मिर्धा नगर में आया पॉजिटिव युवक मीठड़ी के सरकारी अस्पताल में एकाउटेंट है, जो मिर्धा नगर में किराए के मकान में रहता है। इसी तरह खान मोहल्ले में पॉजिटिव आया युवक पिछले दिनों कजाकिस्तान से एमबीए की पढ़ाई कर कुचामन लौटा था। सभी मरीजों को नावां स्थित कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया है। उन्होंने बताया कि पलटन गेट स्थित कोरोना पॉजिटिव मरीज के परिजनों के सैम्पल ले लिए गए है। वही अन्य पॉजिटिव आए मरीजों के परिजनों के सैम्पल बुधवार को लिए जाएंगे।

कोरोना संक्रमण से व्यापारी मोहल्ला निवासी गर्भवती महिला की रविवार को मौत हो जाने के बाद मंगलवार को उसी महिला का पति भी कोरोना पॉजिटिव आया है। मृतक महिला का पति कुचामन सब्जी मण्डी में सब्जी बेचता है। युवक को कोविड केयर सेंटर में भर्ती कर दिया है लेकिन चिंताजनक बात यह है कि इतने दिनों तक वह युवक सब्जी मण्डी में लगातार सब्जी बेचने का काम कर रहा था, जिससे वह कितने लोगों के सम्पर्क में आया है, जिसकी हिस्ट्री खंगालना नामुमकिन है। 

नावां सिटी में एक मजदूर व सुपरवाइजर के पॉजिटिव आने के बाद एक रिफाइनरी को कराया गया बंद
पूर्व में शहर में तीन कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। अब मंगलवार को दो और पॉजिटिव केस सामने आए है। दिल्ली से आए युवक के कोरोना पॉजिटिव आने के पश्चात वार्ड संख्या आठ के कुछ क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया। युवक के सम्पर्क में आए लोगों के सैम्पल लिए गए है, जिसमें युवक की दोनों बहनें भी कोरोना पॉजिटिव आई है। दोनों बहनें शहर की एक साल्ट नमक रिफाइनरी में मजदूरी करने जाती थी। इसकी जानकारी मिलने के बाद भी प्रशासन की ओर से नमक रिफाइनरी को बंद नहीं करवाया गया। चिकित्सा विभाग की ओर से नमक रिफाइनरी में कार्य करने वाले लोगों के सैम्पल लिए गए। जहां एक सुपरवाइजर पॉजिटिव आया है, जो शहर के वार्ड संख्या 11 का निवासी है। इसके साथ ही एक मजदूर पॉजिटिव आया, जो कि नावां के निकट ग्राम मीठड़ी का निवासी है। संबंधित क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है। 

खबरें और भी हैं...