शहर में अन्नकूट महोत्सव की धूम:अन्नकूट महोत्सव में छप्पन भोग की झांकियां सजी

कुचामन सिटीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मकराना - Dainik Bhaskar
मकराना

शहर के स्टेशन रोड स्थित नली के बालाजी मन्दिर में शनिवार को अन्नकूट महोत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मन्दिर परिसर में सुन्दरकांड व भजन कीर्तन का आयोजन किया गया। गायक कलाकार विनोद आचार्य, भानुप्रकाश, प्रदीप आचार्य ने भजनों की प्रस्तुतियां दी गई।

पुजारी सत्यनारायण ने बताया की इस अवसर पर भगवान को 56 भोग के प्रसाद का भोग लगाकर भक्तजनों को प्रसाद का वितरण किया गया। इस अवसर पर हीरालाल बंसल, सुरेश बंसल, मनोज जोशी, डॉ. विजय गुप्ता, छगनलाल शर्मा, बाबूलाल जांगिड़, प्रमोद खण्डेलवाल उपस्थित रहे। इसी तरह सदर बाजार स्थित रघुनाथजी के मंदिर में अन्नकूट महोत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें छप्पन भोग की झांकी सजाकर भगवान को 56 प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाया गया।

इस मौके पर महंत रामनाराणाचार्य महाराज ने महाआरती के बाद प्रसाद वितरित किया गया। इसी प्रकार कुचामन फोर्ट के पास स्थित सत्यनारायण जी के मन्दिर में अन्नकूट महोत्सव के तहत 56 भोग की झांकी सजाई गई। यहां भगवान को अन्नकूट का भोग लगाकर प्रसाद वितरित किया गया। इस मौके पर पुजारी छोटूलाल शर्मा, कन्हैयालाल शर्मा, ओमप्रकाश कुमावत, कमल गौड़, मुरारी गौड़ सहित अनेक लोग मौजूद रहे। ठाकुरजी के लगाया अन्नकुट का भोग

शिम्भूपुरा | शिम्भूपुरा स्थित रघुनाथ मन्दिर में शुक्रवार को अन्नकुट महोत्सव का आयोजन किया गया। महंत श्यामसुंदर दास ने बताया कि अन्नकूट में ठाकुरजी को बाजरा, मोठ, चावल, गुलगुले सहित काचरे फली आदि से बनाए गए पकवान आदि का भोग लगाकर प्रसाद वितरित किया गया। पद गायन कर लगाया छप्पन भोग

ठठाना मीठड़ी | कस्बे लीचाणा रोड स्थित भादीपीठ मंदिर शुक्रवार शाम को अन्नकूट महोत्सव का आयोजन भादीपीठाधीश्वर महंत रेवतीरमण दास महाराज के सानिध्य आयोजित किया। पुजारी अशोक गौड़ ने बताया कि अन्नकूट महोत्सव पर भादीबिहारी युगल सरकार की प्रतिमा का विशेष श्रृंगार किया गया।

अभिषेक में विजय कुमार खंडेलवाल सहपत्निक सम्मिलित हुए। भादीपीठाधीश्वर महंत रेवतीरमण दास महाराज व नंदलाल प्रजापत, लुकुट वल्लभ गौड़, मनोहर सिंह, गोपाल दमामी, लखन लाल खंडेलवाल, किशन कलावत ने शानदार पद गायन व भजन प्रस्तुतियां दी। राज भोग आरती कर अन्नकूट प्रसाद का वितरण किया गया।

अन्नकूट महोत्सव में लगने वाले खर्चे का वहन विजय कुमार खंडेलवाल ने किया। खरीफ फसल से प्राप्त नए अनाज का प्रयोग अन्नकूट के लिए होता है। जो दीपावली के बाद आयोजित किया जाता है। आज भी भादीपीठ मंदिर से जुड़े अनुयायी मूली का खाने के लिए अन्नकूट में भोग लगाने के बाद प्रयोग करते है।

वहीं पंडित नरोत्तम शास्त्री नमीशारण, मोहित शर्मा, प्रभू शर्मा आकोडियां, अशोक गौड़ आदि विद्वान पंडितों के द्वारा गोपाल सहस्रनाम, वैधपाठ का पठन कार्तिक मास पर्यन्त जारी है। इस दौरान प्रभूसिंह गहलोत, अनिल मोजिका, त्रिलोक काछवाल, नंदकिशोर गौड़, हरिदास गौड़, ऋषिराज शर्मा, बजरंग सोमानी, त्रिलोक कुमावत, प्रकाश सेन, चंद्रशेखर दग्गड़ सहित लीचाणा, मंडावरा, पांचोता, नावां से श्रद्धालुओं का आगमन हुआ।
मंदिरों में मनाया अन्नकूट महोत्सव
मींडा | कस्बे के विभिन्न मंदिरों में अन्नकूट महोत्सव के तहत भगवान को अन्नकूट का भोग लगाकर प्रसाद वितरण किया गया। मींडा के मुख्य बाजार में स्थित गंगा माता मंदिर में अन्नकूट महोत्सव मनाया गया। महंत सुरेश कुमार ने बताया कि ठाकुरजी महाराज का विशेष श्रृंगार किया गया। रघुनाथ महाराज मंदिर, ठाकुरजी महाराज मंदिर सहित कई मंदिरों में अन्नकूट महोत्सव मनाया गया।

मनाया अन्नकूट महोत्सव
नावां सिटी | दीपोत्सव के दूसरे दिन शुक्रवार को मंदिरों में अन्नकूट महोत्सव मनाया गया। इस अवसर पर भगवान का श्रृंगार कर नए खाद्यान्नों से बने व्यजंनों एवं तरकारियों की झांकी सजाने के बाद भोग लगाकर सामूहिक आरती कर प्रसाद वितरित किया। कस्बे के श्रीराम बजरंग मंदिर, रघुनाथजी मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, मुरलीधरजी मंदिर, श्रीचारभुजानाथ मंदिर सहित अन्य मंदिरों में अन्नकूट महोत्सव धूम धाम से मनाया गया।

सत्यनारायण मंदिर में हुआ अन्नकूट​​​​​​​
तोषीणा | तोषीणा के श्री सत्यनारायण भगवान और श्री कल्याणजी महाराज के मंदिर में हर साल की भांति इस साल भी अन्नकूट बना कर भगवान के भोग लगाया गया। जिसमें विभिन्न प्रकार के 56 व्यंजन बनाए गए। मंदिरों के पुजारी जगदीश प्रसाद व्यास और हनुमान सेवग ने बताया कि अन्नकूट का प्रसाद बनाकर ही हम सभी प्रसाद ग्रहण करते हैं।

चारभुजा मंदिर में अन्नकूट महोत्सव
मकराना | शहर के श्री चारभुजा मंदिर में शुक्रवार सुबह अन्नकूट महोत्सव का आयोजन किया गया। इसके तहत भगवती प्रसाद पुजारी के नेतृत्व में पुजारी दल ने भगवान का अभिषेक कर भव्य श्रृंगार किया। महाआरती के बाद दोपहर 12:30 बजे भगवान के समक्ष छप्पन भोग की झांकी सजाई गई।

इस अवसर पर महेश पुजारी, कैलाश पुजारी, महेश रांदड़, वासुदेव पुजारी, घनश्याम सोनी, भरत दाधीच सहित अनेक लोग मौजूद थे। इसी प्रकार जूसरी के राधा माधव मंदिर में भी भगवान को छप्पन भोग लगाया गया। शाम को चार बजे आयोजित कार्यक्रम में पुजारी जगदीश प्रसाद ने पूजा अर्चना कर छप्पन भोग का प्रसाद चढ़ाया एवं श्रद्धालुओं को वितरित किया। इस अवसर पर महेश काबरा, राधेश्याम काबरा, महेन्द्र काबरा, मधुसूदन काबरा, बसंत काबरा, निखिल काबरा, नितेश काबरा, सुरेश सिहोटा, विष्णु शर्मा सहित अनेक लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...