मोर ने दूसरे साथी को दी विदाई:चार साल एक साथ दाना-पानी व चुगा लिया, अंतिम संस्कार में नम आंखों से एक मोर ने दूसरे साथी को दी विदाई

कुचेरा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दुनिया दारी में जब कोई समाज, रिश्तेदार या कोई परिचित अंतिम सांस लेकर दुनिया को अलविदा कहता है तो उसकी शव यात्रा में लोग अंतिम संस्कार में शामिल होते है। लेकिन साथी मोर की मौत होने पर उसका दूसरा साथी नम आंखों के साथ उसके शव के पीछे पीछे चलता नजर आया। मामला है क्षेत्र के थला ढाणी का, जहां पर रविवार शाम को करीब आठ वर्षीय नर मोर ने बुढ़ापे व आंखों की रोशनी चले जाने के कारण अंतिम सांस ली।

वन एवं वन्य जीव रक्षा के जिला उपाध्यक्ष रामस्वरूप बिश्नोई ने बताया कि उनके फार्म पर विभिन्न जीव विचरण करते है। उनमें से तीन मोर का जोड़ा परिवार सदस्यों की तरह था। मोर की मौत होने के चलते साथी मोर करीब तीन घण्टे तक उसके चारों तरफ घूमते रहे

रामस्वरूप के साथ खाना खाता था यह मोर : बिश्नोई बताते है कि जब भी वो सुबह शाम खाना खाते थे। यह जोड़ा उनके साथ आकर खाना खाता था। जब वो कहीं काम के दौरान बाहर चले जाते और मोरो के साथ खाना खा नहीं पाते तो यह मोर बिल्कुल बच्चों की तरह रूट जाते और दाना-पानी नहीं लेते। इस बाद उनको मनाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी।

खबरें और भी हैं...