पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंगलाना में हादसा:बारिश से स्कूल परिसर में दो मंजिला भवन के कमरे की पटिट्यां गिरी, संचालक की हुई मौत

मकराना5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मकराना. भवन का वह कमरा जिसकी दोनों मंजिल की पट्टियां टूटकर गिर गई। - Dainik Bhaskar
मकराना. भवन का वह कमरा जिसकी दोनों मंजिल की पट्टियां टूटकर गिर गई।
  • पूरा परिवार एक ही कमरे में था, हादसे से कुछ देर पहले ही बाकी सदस्य निकले थे

क्षेत्र में शनिवार देर शाम को तेज अंधड़ व बारिश से मंगलाना गांव में बड़ा हादसा हो गया, जिसमे मकान की छत गिरने से एक निजी स्कूल संचालक की मौत हो गई। मामले के अनुसार विवेकानंद स्कूल संचालक महावीर प्रसाद शर्मा पुत्र बोदू लाल उम्र 45 वर्ष शनिवार शाम 4 बजे शाला परिसर में ही बने दो मंजिला मकान के ग्राउंड फ्लोर के कमरे में बैठे थे। इस दौरान तेज अंधड़ के साथ बारिश आई।

उनके दो मंजिला मकान के ऊपरी छत पर परदीनुमा मुंडेर निकाली हुई थी जो तेज हवा से भरभराकर ऊपर के कमरे दो मंजिला कमरे की छत गिर गई। उस छत की पट्टियां टूटकर नीचे कमरे की छत पर गिरी, जिससे उसकी छत भी टूट गई।

टनों वजनी टूटी पट्टियां व मलबा नीचे बैठे महावीर पर गिर गया। हादसे से कुछ समय पूर्व परिवार के अन्य सदस्य कमरे से बाहर चले गए लेकिन मृतक महावीर शर्मा (45) वर्ष कमरे में ही बैठा रह गया था।

दो मंजिला छत पर ईंटों की दीवार ढहने से दोनों मंजिलों की पटिट्यां टूट गई

पोस्टमार्टम करवाने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। मृतक रसाल गांव निवासी है तथा मंगलाना में कई वर्षों से एक निजी स्कूल संचालित कर रहा था। इस दुर्घटना के बाद स्कूल संचालक शिक्षक के परिवार का रो-रो कर हाल बेहाल था।

मंगलाना व रसाल क्षेत्र के लोगों ने भी हादसे के बाद दुख व्यक्त किया। उल्लेखनीय है कि जिस कमरे में स्कूल संचालक बैठे थे वह ग्राउंड फ्लोर पर था और सबसे पहले दूसरी मंजिल के कमरे की छत टूटी थी। वह छत टूटकर ग्राउंड फ्लोर के कमरे की छत पर गिरी थी। इसी वजह से उस कमरे की छत भी भरभराकर गिर गई।

शिक्षक को मलबे से बाहर निकालने में लगा आधा घंटा, अस्पताल में मृत घोषित

परिवार के सदस्यों ने मदद के लिए चीख पुकार की तथा आवाज सुनकर आस पास के सैकड़ों लोग वहां जमा हो गए। काफी मशक्कत के बाद मलबे को हटाया गया, जिस पर करीब तीस मिनट बाद युवक को मलबे से बाहर निकाला जा सका।

इस दौरान निजी स्कूल संचालक के शरीर से काफी खून बह गया था एवं उसे 108 एंबुलेंस की सहायता से उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालय मकराना ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने व्यक्ति को मृत घोषित कर दिया। अब परिजनों का रो-रो कर हाल बेहाल है।

खबरें और भी हैं...