सामूहिक विवाह सम्मेलन / कन्यादान में सेनिटाइजर व स्टैंड दिया, स्क्रीनिंग के बाद दूल्हा-दुल्हन ने पहनाई वरमाला

Gave sanitizer and stand in Kanyadaan, groom and bride wear varmala after screening
X
Gave sanitizer and stand in Kanyadaan, groom and bride wear varmala after screening

  • मकराना के पलाड़ा रोड स्थित छापूनिया कृषि फार्म में हुआ मेघवाल समाज का 13वां विवाह सम्मेलन, 23 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

मकराना. कोरोना महामारी ने इंसान के हर कार्यकलापों में हस्तक्षेप किया है। मकराना के पलाड़ा रोड स्थित छापूनिया कृषि फार्म में सोमवार को आयोजित मेघवाल समाज के 13 वें सामूहिक विवाह सम्मेलन में कोरोना जागरूकता का अनूठा संदेश दिया गया। प्रत्येक जोड़े को मेघवाल समाज सेवा समिति ने एक सेनेटाइजर स्टैण्ड व सेनेटाइजर की बोतल बतौर कन्यादान भेंट की।

इतना ही नहीं वरमाला कार्यक्रम से पूर्व दूल्हा व दूल्हन की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। सम्मेलन में शामिल सभी 23 जोड़ों का तापमान सही आया जिसके बाद ही तोरण, वरमाला एवं फेरों की रस्म अदा की गई। अग्नि के समक्ष फेरों के लिए बैठने से पूर्व वर, वधु, माता-पिता के हाथ सेनेटाइज करवाए गए, जिसके चलते प्रत्येक चंवरी के पास सेनेटाइज स्टैण्ड भी रखे गए।

दूल्हे को सफेद व दुल्हन को गुलाबी मास्क पहनाया गया। पं. विमल पारीक के सान्निध्य में 25 पंडितों की टोली ने विवाह संस्कार संपन्न करवाए। समिति के महामंत्री मालाराम छापूनिया ने प्रत्येक जोड़े को शपथ दिलाई कि वे अपने दांपत्य जीवन को आपसी मेलजोल, सौहार्द के साथ व्यतीत करेंगे। 

सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइजिंग व मास्क की अनिवार्यता का पूरा ख्याल
उन्होंने बताया कि अभी कोरोना काल चल रहा है मगर विवाह आयोजन करवाना भी जरूरी था जिसके चलते सोशल डिस्टेंसिंग, सेनेटाइजिंग, मास्क की अनिवार्यता का पूरा ख्याल रखा गया। पाण्डाल में भीड़ ना हो इसके लिए भीतर लोगों को प्रवेश नहीं दिया। केवल वर व वधु के परिवार के खास नजदीकी लोग ही भीतर पहुंच पाए, जिन्हें भी सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखने के लिए बार-बार निर्देश दिए गए।

इस दौरान समारोह के मुख्य अतिथि भामाशाह घीसाराम मेहरा ने कहा कि विवाह में फिजूलखर्ची कतई उचित नहीं है। दिखावे से बचते हुए हर नागरिक सम्मेलन में बच्चों का विवाह करवाएं एवं शादी में खर्च करने के लिए जमा रकम से नवविवाहित लाडलों को कोई व्यवसाय शुरू करवाकर दें। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण स्थिति काफी विकट है। फिर भी इस दौर से सीख लें।

प्रशासन ने भी लिया व्यवस्थाओं का जायजा
इस दौरान समिति अध्यक्ष अखलेश छापूनिया ने अध्यक्षता की, जबकि तुलछीराम बुगालिया, गंगाराम अडाणिया, कन्हैया लाल, छितरमल परिहार व गोविन्द लाल मेघवाल बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद थे। कार्यक्रम के दौरान आगंतुकों के लिए भोजन की व्यवस्था की गई। वधुओं को समिति की ओर से गृहस्थी शुरू करने के लिए जरूरी सामान उपहार स्वरूप भेंट किए गए।

दोपहर तीन बजे दुल्हनों की विदाई का कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम के मध्य में पुलिस व प्रशासन की ओर से अधिकारी मौके पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे।

इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष कमला देवी छापूनिया, बोदूराम संत, शिवबक्श मेहरा, नाथूराम नालनेछा, भंवरलाल पिण्डार, छितरमल पिण्डार, बंकट तानाण, हड़मान मोयल, गंगाराम तानाण, प्रेमाराम आसोपिया, गोविन्द लाल पिण्डार, इन्दमल पिण्डार, गोपाल अडाणिया, मुकेश चेड़ीवाल, संजय तालापा, दिलीप तालापा, पवन छापूनिया, प्रेमाराम पटवारी, बंशीलाल पिण्डार, सोहन चौहान, रामस्वरूप झाडोलिया, प्रेमाराम मोयल, सोहनलाल चौहान सहित मेघवाल समाज के लोग मौजूद थे। पूरे विवाह सम्मेलन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना