राहत की खबर / कृषक कल्याण फीस में संशोधन के बाद मंडियों में फिर से शुरू हुई जिंसों की खरीद

Procurement of commodities resumed in mandis after amendment in farmer welfare fees
X
Procurement of commodities resumed in mandis after amendment in farmer welfare fees

  • मेड़ता कृषि उपज मंडी व्यापार व उद्योग संघ ने मुख्यमंत्री गहलोत का जताया आभार

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मेड़ता सिटी. प्रदेश में खाद्य व्यापार से जुड़े व्यापार संघ के पदाधिकारियों की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से वार्ता के बाद किसान कल्याण फीस में कुछ रियायत देने पर मंडियों में फिर से कारोबार शुरू हो गया। इससे किसानों को अपने माल बेचने पर आर्थिक राहत मिलेगी। गौरतलब है कि राज्य सरकार की ओर से किसान कल्याण फीस 2 प्रतिशत करने के विरोध में मंडी के व्यापारी अनिश्चित कालीन हड़ताल पर थे। जिससे मंडियों का कारोबार ठप पड़ा था। किसानों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। मंडी व्यापारियों की समस्याओं को दृष्टिगत करते हुए राज्य सरकार ने कृषक कल्याण कोष कर में संशोधन करते हुए ऊन पर कृषक कल्याण फीस की दर पर 100 रुपए पर शून्य होगी। ज्वार, बाजरा, मक्का, जीरा एवं इसबगोल में कृषक कल्याण फीस की दर 100 रुपए पर मात्र 50 पैसे की है। फल एवं सब्जी शीर्षक में सम्मिलित समस्त कृषक जिंसों पर कल्याण फीस की दर पूर्ववत 100 रुपए पर 2 रुपए मात्र होगी। अनुसूची के अनुसार अन्य सभी कृषि उपज पर कृषक कल्याण फीस की दर 100 रुपए पर मात्र 1 रुपया होगी। राज्य सरकार ने यह निर्णय प्रदेशभर के व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों से चर्चा करने के बाद ही लिया है।

इस पर व्यापारियों ने हड़ताल को समाप्त करते हुए मंडियों में अपने कारोबार पर लौट आए। पालिका सभागार में शुक्रवार को कोरोना वायरस सहायता समिति की बैठक हुई। इस दौरान मेड़ता व्यापार एवं उद्योग संघ अध्यक्ष हस्तीमल डोसी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की इस आपदा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पूरे राष्ट्र में राजस्थान के प्रमुख योद्धा के रूप में उभरे है। ऐसे समय में भी व्यापार एवं उद्योग संघ की समस्याओं को आपने धैर्य के साथ सुना एवं राज्य सरकार की ओर से लगा गए किसान कल्याण फीस में राहत देने के प्रयास किए।

मेड़ता व्यापार एवं उद्योग संघ ने आभार जताते हुए कहा कि इस कार्य में पूर्व विधायक रामचन्द्र जारोड़ा, गांधी दर्शन के जिला संयोजक जगदीशनारायण शर्मा, पालिका अध्यक्ष रूस्तम अली प्रिंस का विशेष योगदान रहा। उन्होंने कहा कि व्यापार, किसान, उद्योग धंधे को बढ़ावा देने के लिए भविष्य में भी पुन: चिन्तन करने की जरूरत है। इस मौके पर मेड़ता ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष नंदकुमार अग्रवाल, गौतम टाक, पालिका उपाध्यक्ष रामसुख मुंशी, पार्षद दशरथ सारस्वत, कैलाश गौड़, धर्मीचन्द जैन, माणक सैन आदि मौजूद थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना