मेड़ता में खाली हो रही कोयले की रैक:CCM और SDCM से पालिकाध्यक्ष बोले- अब नई रैक नहीं आने दूंगा, इससे शहर बदसूरत हो रहा

मेड़ता12 दिन पहले

उत्तर-पश्चिम रेलवे जयपुर की मुख्य वाणिज्य प्रबंधक अर्चना श्रीवास्तव रविवार शाम 6 बजे करीब मेड़ता सिटी रेलवे स्टेशन पहुंची, उन्होंने यहां रेलवे यार्ड का बारीकी से निरीक्षण किया। इस दौरान पालिकाध्यक्ष गौतम टाक मौके पर पहुंच गए और उन्होंने मेड़ता शहर के रेलवे यार्ड पर गुड्स ट्रेन से खाली हो रहे कोयले काे लेकर कहा कि यह जो रैक आ गई है वो ठीक है मगर अब तो नहीं आने दूंगा मैं।

पालिकाध्यक्ष ने CCM श्रीवास्तव और जोधपुर रेल मंडल के सीनियर डीसीएम जितेंद्र सिंह मीणा को कहा कि ऐसे थोड़ी शहर को बदसूरत होने देंगे। आप यहां की रोड देखिए..., मकान देखिए... और पब्लिक को देखिए...। सबकी क्या हालत हो रही है। हम अब यहां कोयले की रैक नहीं आने देंगे।

पालिकाध्यक्ष टाक ने कहा कि यहां रोज 5 से 10 हजार व्यक्ति हर स्टेट से चारभुजानाथ एवं मीरा मंदिर के दर्शन करने आते हैं। यहां ऐसी हालत है तो क्या करेंगे, फिर डीसीएम मीणा ने कहा कि यहां तीन-चार रैक आए है, तब पालिकाध्यक्ष टाक ने कहा कि एक रैक में ही शहर की हालत खराब हो गया है। चारों तरफ काला कोयला ही कोयला नजर आ रहा है। अब आप ही सोचिए तीन रैक में तो काफी गड़बड़ हो गई ना। पालिकाध्यक्ष ने कहा कि आप कुछ भी करो, अब हम यहां नई रैक खाली नहीं होने देंगे।

रेलवे यार्ड क्षेत्र में बारिश का पानी भर रहा: पालिकाध्यक्ष

रेलवे के अधिकारियों को पालिकाध्यक्ष ने कहा कि रेलवे ट्रैक के पास और यार्ड क्षेत्र में बारिश के दिनों में पानी भरता है। हम पहले भी आपके इंजीनियर्स को इस समस्या से अवगत करा चुके हैं। साथ ही नगरपालिका से नाला वगैरह कुछ भी बनाने की मदद होती है हम पूरी तरह से करने को तैयार है फिर भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है, जबकि हम पहले भी तीन से चार बार आपको इस समस्या से अवगत करा चुके हैं। यहां मच्छर हो रहे हैं, बीमारियां हो रही है। इस दौरान पूर्व विधायक रामचंद्र जारोड़ा, पालिका के ब्रांड एंबेस्डर विकास अजमेरा, पार्षद जाकिर खान सांखला, चिमन वाल्मीकि, दिलीप माली सहित स्थानीय लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...