पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मार्ट मीटर की सौगात:6 हजार का 1 स्मार्ट मीटर, 20 हजार घरों में लगेंगे; निगम द्वारा निशुल्क लगवाए जा रहे

नागौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • गलत रीडिंग, मीटर तेज चलने और टेम्परिंग सहित अनेक समस्याओं से मिलेगी उपभाेक्ताओं काे राहत

नागाैर शहर के भीतरी क्षेत्र में स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य प्रगति पर है। 20 हजार घराें स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। जानकारी के अनुसार सहायक अभियंता अर्जुन सिंह ने बताया कि स्मार्ट मीटर उच्च गुणवत्तापूर्ण है। एक स्मार्ट मीटर की लागत करीब 6 हजार रुपए है। जानकारी के अनुसार जाे निगम द्वारा उपभाेक्ताओं के घराें में निशुल्क लगवाए जा रहे है। दरअसल, शहर में स्मार्ट मीटर लगने से गलत रीडिंग, मीटर तेज चलने, मीटर में टेम्परिंग और मीटर रीडर की ओर से मनमाने तरीके से रीडिंग लेने जैसी शिकायतें जल्द खत्म हो जाएंगी, क्योंकि नागौर शहर में स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य तीव्र गति से चल रहा है।

इसके बाद उपभोक्ता अपने मोबाइल पर ही मीटर की रीडिंग, रोजाना, 15 दिन और महीने में बिजली खर्च पता कर सकेंगे, क्योंकि स्मार्ट मीटर में रीडिंग ऑनलाइन दर्ज होगी। यानी 24 घंटे में 96 बार स्मार्ट मीटर का डाटा अपडेट होगा। जानकारी के अनुसार कोई उपभोक्ता स्वीकृत लोड से अधिक बिजली खपत करना चाहेगा, तो स्मार्ट मीटर स्वत: ही सप्लाई काट देगा।

उपकरण बंद करना भूले ताे मोबाइल पर अलर्ट

स्मार्ट मीटर लगने के कई और भी फायदे हैं, मसलन आप जल्दबाजी में घर के पंखे, ट्यूबलाइट, एसी, कूलर और दूसरे उपकरण बंद करना भूल गए हैं, तो आपके मोबाइल पर इसका अलर्ट आएगा। आप चाहें तो सब स्टेशन से अपने घर की बिजली सप्लाई बंद करा सकेंगे। स्मार्ट मीटर के अंदर बीएसएनल की सिम लगी हुई है। यह सिम मीटर सभी गतिविधियों का संचालन करेगी। मीटर को स्मार्ट बनाने में काम करती हैं, इस सिम के जरिए कंपनी के ऑपरेटर सीधे निगरानी बनाए रखेंगे। यह सिम सीधे सर्वर से जुड़ी हुई रहेगी। इससे किसी भी गड़बड़ी होने की स्थिति में सारी जानकारी के बारे में पता चल सकेगा। इसके अलावा इसमें और भी सुरक्षा मानक है जो कई गड़बड़ियों को नियंत्रित करेगी।

खबरें और भी हैं...