पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • 100 Mm Rain In One And A Half Hours, Water Entered The Houses And Shops, Girl Died Due To Lightning In Nawan's Narsinghpura, Panicked Sister in law Admitted

शुभ मानसून:100 एमएम बारिश डेढ़ घंटे में, घरों-दुकानों में घुसा पानी,नावां के नृसिंहपुरा में बिजली गिरने से युवती की मौत, घबराई भाभी भर्ती

नागौर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

11 जुलाई को जिले में मानसून की एंट्री के बाद बुधवार को नागौर पर जमकर मेहरबान हुआ। नागौर शहर सहित आसपास गांवों में सीजन की सबसे तेज बारिश हुई। बादलों की काली घटाओं के साथ शाम 5 बजे से 6.30 बजे तक, यानी मात्र डेढ़ घंटे में ही बारिश ने (100 एमएम पानी बरसा) शतक लगा दिया। तेज मानसूनी बारिश के चलते शहर के निचले इलाकों की सड़कें लबालब हो गई और 3 से 5 फीट तक पानी भर गया।

शहर के किले की ढाल, ए व बी सहित कॉलेज रोड से गुजरने वाले दुपहिया वाहन बीच सड़क पानी के बीच फंस गए। निचले इलाकों में सड़कों पर खड़ी बाइकें पानी के तेज बहाव में बह गई। वहीं निचले इलाकों में स्थित एक दर्जन से ज्यादा मोहल्लों के घरों और यहां स्थित दुकानों में पानी घुस गया। इधर, तेज बारिश के बाद नागौर तहसील के किसानों को बड़ी राहत मिली है।

शाम 5 से साढ़े 6 बजे तक तेज बारिश , सड़कों पर पानी में डूब गए वाहन

अब कैसे एक्टिव हुआ मानसून?
झारखंड में 3 दिन पहले ऊपरी हवाओं में चक्रवात विकसित हुआ। जिसके मूवमेंट से मानसून एक्टिव हो गया। पंजाब से झारखंड के बीच मानसून की टर्फ लाइन होने की वजह से बादलों व नमी का मूवमेंट राजस्थान की तरफ होने लगा।
इतनी देरी से क्यों आया मानूसन?
प्री मानसून 2 जून तक पूरी तरह एक्टिव था, लेकिन तिब्बत में बने एंटी साइक्लोन की स्थिति बदलने से बंगाल की खाड़ी में नए सिस्टम का मूवमेंट बंद हो गया। इससे मानसून नॉन एक्टिव हो गया। इसका असर लंबे समय तक रहा।

खबरें और भी हैं...