पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसानों की चिंता बढ़ी:154 पटवार हल्कों की अटकी गिरदावरी, आंकलन के बिना 25 हजार किसानों को कैसे मिलेगा मुआवजा

नागौर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

पटवारियों की हड़ताल के चलते जिले के 154 अतिरिक्त प्रभार वाले पटवार हल्कों की गिरदावरी अटक गई। खामियाजा उन किसानों को भुगतना पड़ेगा, जिनकी रबी की फसलें मौसम की मार के चलते खराब हुई। फसल खराबे का आंकलन नहीं होने से उन्हें सरकार की तरफ से मुआवजा नहीं मिल पाएगा, ऐसे में जिले के 154 पटवार हल्कों के करीब 25 हजार किसानों की चिंता बढ़ा दी है।

दरअसल, प्रदेश में लंबे समय से पटवारी हड़ताल पर हैं, सरकार से बातचीत भी हर बार फैल हाे रही है। लेकिन पटवारियों और सरकार के बीच वार्ता सफल नहीं हाेने का खामियाजा अब किसानों काे भुगतना पड़ रहा है। इस बार रबी सीजन की फसलों की गिरदावरी अटक गई है। फसलों की गिरदावरी 1 फरवरी से 5 मार्च तक होती है, लेकिन इस बार पटवारियों की हड़ताल तथा अतिरिक्त पटवार हल्कों के बहिष्कार के कारण गिरदावरी प्रदेशभर में पूरी नहीं हाे पाई है।

वैसे ताे पटवार मंडल सहित तहसील और एलआर शाखा में कार्यरत पटवारियों के अधिकतर पद खाली पड़े हैं। प्रदेश में 12 हजार 500 पटवार सर्किल हैं। इनमें से 7700 पटवार सर्किल भरे हुए हैं, जबकि करीब 4800 खाली है।

465 पटवार हल्का, 311 तक पहुंचे पटवारी
जिले में 465 पटवार मंडल है। इसमें 154 के पास अतिरिक्त पटवार मंडल का कार्यभार संभालने काे दिया है। जिसमें से पटवारी कार्यरत पटवार हल्के में ही गिरदावरी करने पहुंचे है। 154 पटवार सर्किलों का अतिरिक्त कार्यभार अन्य पटवारियों को दिया है, लेकिन पटवारियों ने 15 जनवरी से इसका बहिष्कार कर रखा है।

इस कारण नागौर के 165 सहित राज्य के 4800 पटवार हल्कों में रबी सीजन की फसल गिरदावरी नहीं हो सकी। पटवारियों के विरोध के कारण अतिरिक्त पटवार सर्किलों में फसल खराबे की गिरदावरी सहित किसान केसीसी कार्ड, पेंशन, जाति प्रमाण पत्र, प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के नए आवेदकों का सत्यापन सहित अन्य कार्य प्रभावित हैं। आवेदक चक्कर लगा रहे हैं।

राजस्व मंडल ने सभी जिला कलेक्टरों को 2020-21 की गिरदावरी की रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए हैं। राजस्व मंडल की संयुक्त निदेशक ने इसके लिए सभी जिलों के कलेक्टरों को पत्र लिखा है। रबी फसल की जिंसों का क्षेत्रफल तथा उत्पादन की रिपोर्ट मांगी गई है। मगर..अभी पटवार मंडल वार गिरदावरी रिपोर्ट नहीं पहुंचने के चलते रिपोर्ट उच्च स्तर पर नहीं भिजवाई जा सकी है।

ग्रेड-पे व वेतनमान संसोधन के लिए की जा रही हड़ताल
पटवारी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल कर रहे हैं। इनमें ग्रेड पे 3600 किए जाने, 9-18-27 के स्थान 7-14-21-28 का चयनित वेतनमान नहीं दिए जाने, नो वर्क नो पे के तहत जिलों के पटवारियों का बकाया वेतन दिए जाने की मांग कर रहे हैं। भू-अभिलेख व कानूनगो भी अतिरिक्त पटवार मंडलों के कार्य करने से पीछे हट चुके है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें